देश

national

प्रदेश

y

धर्म

Dharm

खेल

Sports

कारोबार

Business

टेक

Technology

प्रदेश

देश - दुनिया

VIDEO

Videos

News By Picture

Cinema

दुनिया

स्वास्थ्य

शिक्षा व नौकरी

2022 में 31 IAS अधिकारी होंगे रिटायर

No comments

लखनऊ

उत्तर प्रदेश में अगले साल करीब 31 आईएएस अधिकारी रिटायर होने वाले हैं। इसी के साथ उत्तर प्रदेश कुछ बेहतरीन अधिकारियों को भी खो देगा। नियुक्ति और कार्मिक विभाग की ओर से जारी आदेश के अनुसार इन अधिकारियों के सेवा अभिलेख और पेंशन संबंधी प्रक्रिया के साथ उनकी जन्म तिथि और रिटायरमेंट तिथि का मिलान करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

2022 में रिटायर होने वाले अधिकारियों में देवाशीष पांडा, टी वेंकटेश और राजेंद्र प्रताप पांडे शामिल हैं जो 31 जनवरी को पद छोड़ देंगे। अब्दुल शमद, मोहम्मद इफ्तेखारुद्दीन और अवनीश कुमार शर्मा 28 फरवरी को रिटायर होंगे जबकि संजय अग्रवाल 31 मार्च को अपना कार्यकाल पूरा करेंगे। शमीम अहमद खान, एम.वी.एस. रामिरेड्डी, प्रभात कुमार सारंगी, आलोक सिन्हा, मुकुल सिंघल 30 अप्रैल को रिटायर होंगे और रमाशंकर मौर्य और वीरेंद्र कुमार सिंह 31 मई को रिटायर होंगे।  


अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी भी होंगे रिटायर
इनके अलावा भावना श्रीवास्तव, राजेंद्र प्रसाद, रविशंकर गुप्ता और फैसल आफताब 30 जून को रिटायर होंगे। नरेंद्र सिंह पटेल, डॉ अजय शंकर पांडे, डॉ अशोक चंद्रा और दिनेश कुमार सिंह 31 जुलाई को रिटायर होंगे। अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी 31 अगस्त को रिटायर होंगे, जबकि आलोक टंडन और डिंपल वर्मा 30 सितंबर को कार्यालय से रिटायर होंगे।

सीनियर आईएएस ने कहा, नौकरशाही में होगा पीढ़ीगत बदलाव
प्रदीप कुमार 31 अक्टूबर को रिटायर होंगे और राधेश्याम मिश्रा, दीप चंद्र, राजन शुक्ला और शालिनी प्रसाद 30 नवंबर को रिटायर होंगे। श्रीकांत मिश्रा 31 दिसंबर 2022 को पद छोड़ देंगे। एक वरिष्ठ आईएएस अधिकारी ने इस पर टिप्पणी करते हुए कहा, ‘इन वरिष्ठ अधिकारियों के रिटायरमेंट के साथ, राज्य की नौकरशाही में एक निश्चित पीढ़ीगत बदलाव होगा जो काम करने में एक स्पष्ट बदलाव लाने के लिए बाध्य है।’

यूपी: धुआं हो गया सुप्रीम कोर्ट का आदेश, ताबड़तोड़ आतिशबाजी से बिगड़ी हवा

No comments

लखनऊ। 

दिवाली पर आतिशबाजी और पटाखों में सारे आदेश उड़ा दिए गए। कई शहरों में आतिशबाजी पर बैन लगाया गया। लोगों को ग्रीन पटाखे जलाने के लिए कहा गया लेकिन दिवाली पर लोगों ने जमकर पटाखे जलाए। आधी रात से लेकर शुक्रवार की सुबह ऐसा नजारा देखने को मिला जो चिंताजनक था। आसमान में धुंध के काले बादल से नजर आए। अधिकांश शहरों का एक्यूआई या तो बेहद खराब स्थिति तक पहुंच गया या फिर गंभीर स्तर तक।

प्रदूषण से जहां दिल्ली के हालात बेहाल रहे वहीं दिल्ली से सटे नोएडा का हाल भी बुरा रहा। यहां का एक्यूआई गंभीर स्थिति पार कर गया। दादरी, डासना नोएडा और ग्रेटर नोएडा इलाके का एक्यूआई 446 तक पहुंच गया। 

कानपुर के हालात भी काफी खराब रहे। यहां का एक्यूआई बहुत खराब स्थिति में पहुंच गया। यहां पर नेहरू नगर के पॉल्यूशन मीटर पर गुरुवार की शाम को एक्यूआई 434 तक पहुंच गया। किदवईनगर का एक्युआई 227, आईआईटी का 203 और नैशनल शुगर इंस्टिट्यूट का 205 रहा।

मेरठ का एक्यूआई भी गंभीर स्थिति तक पहुंच गया। यहां पर यह 439 दर्ज किया गया। लोगों को सांस लेने में परेशानी हुई।

गाजियाबाद का एक्यूआई 409 दर्ज किया गया। गाजियाबाद के लोनी का एयर क्वालिटी 364 रहा।

पीएम मोदी ने पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में लिया हिस्सा

No comments

नई दिल्ली। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ब्रुनेई द्वारा आयोजित 16वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में लिखा कि ब्रुनेई द्वारा आयोजित 16वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन में भाग लिया। भारत के एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में आसियान केंद्रीयता के सिद्धांत पर फिर से ध्यान केंद्रित करने की पुष्टि की। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत बहुपक्षवाद, नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था, अंतरराष्ट्रीय कानून और सभी देशों की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के साझा मूल्यों के प्रति सम्मान को मजबूत करने के लिए प्रतिबद्ध है। मैं कल 18वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए उत्सुक हूं।

पूर्वी-एशिया शिखर सम्मेलन में 10 आसियान देशों के सदस्यों के अलावा भारत, चीन, जापान, कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, अमेरिका और रूस शामिल ने हिस्सा लिया।

© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company