Responsive Ad Slot

देश

national

प्रदेश

y

धर्म

Dharm

खेल

Sports

कारोबार

Business

टेक

Technology

प्रदेश

देश - दुनिया

VIDEO

Videos

News By Picture

Cinema

दुनिया

स्वास्थ्य

शिक्षा व नौकरी

कन्याओं के लिए कोरोना काल में बेस्ट रहेंगे सेफ्टी के ये उपहार

No comments

इंडेविन न्यूज नेटवर्क

कोरोना से बचने के लिए किसी को सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने आदि नियमों का पालन करने की सलाह दी जा रही है। ताकि इस वायरस की चपेट में आने से बचा जा सके। मगर इस दौरान नवरात्रि के पावन दिन चल रहे हैं। इसके बाद अष्टमी में कन्या पूजा होता है। इस दौरान लोग कंजक पूजा करने के साथ उन्हें अलग-अलग तोहफे देते हैं। वैसे तो कोरोना को देखते हुए घर की कन्या व बालक के साथ आप कन्या पूजन कर सकते हैं। मगर आप फिर भी कन्याओं को घर बुलाने वाले हैं तो उन्हें सेफ्टी से जुड़े कुछ गिफ्ट दे सकती है। 

कन्याओं को दें सेफ्टी का उपहार 

कोरोना से बचने के लिए इस दौरान कन्याओं को हैंड सैनिटाइजर, मास्क, साबुन, हैंडवॉश आदि तोहफे में देना बेस्ट रहेगा। आप उन्हें घर पर खुद कपड़े से मास्क बना कर दे सकती है। 



पढ़ाई व स्टेशनरी का सामान

कोरोना के कारण स्कूल बंद होने से ऑनलाइन क्लासिस चल रही है। ऐसे में आप उनके किताब, कॉपी, पेंसिल आदि पढ़ाई व स्टेशनरी का सामान दे सकती है। इसके अलावा जरूरतमंद बच्चों को उनकी पढ़ाई से जुड़ी किताबें दें। 



लाल वस्त्र 

देवी दुर्गा को लाल रंग अतिप्रित है। ऐसे में कंजक पूजा के दिन कन्याओं के लाल रंग के वस्त्र दें। आप उन्हें लाल रंग की चुनरी या कोई पोशाक भेंट कर सकती है। इससे देवी मां की आप पर कृपा होने के साथ कुंडली में मंगल की स्थिति मजबूती होगी। 

फल देना होगा शुभ

कन्याओं को एक मौसमी फल जरूर दें। फलों को शुभता का प्रतीक माना जाता है। नवरात्रि में कन्याओं को विष्‍णुजी का प्रिय फल केला और मां लक्ष्‍मी का प्रिय फल नारियल देना शुभ रहेगा। मान्यता है कि दोनों का एक साथ दान करने से घर में सुख व समृद्धि बढ़ती है।


श्रृंगार का सामान

नवरात्रि में कन्या भोज करवाने के बाद उन्हें श्रृंगार का सामान दें। इसे पहले देवी मां को चढ़ाएं बाद में 2 से 7 साल के बीच की उम्र की कन्याओं में बांट दें। कहा जाता है कि कन्याओं को दी गई यह सामग्री सीधे माता रानी द्वारा स्वीकार की जाती है। 


नवरात्रि पर माता रानी के स्वागत में बनाएं खूबसूरत रंगोली

No comments

 इंडेविन न्यूज नेटवर्क


भारत में सदियों से त्योहारों व शुभ दिन पर रंगोली बनाने की परंपरा है। इससे घर की खूबसूरती बढ़ने के साथ पॉजीटिव एनर्जी फैलती है। मान्यता है कि रंगोली बनाने से घर में देवी-देवताओं का वास होता है। अगर आप भी नवरात्रि की अष्टमी तिथि कोे रंगोली बनाने की सोच रहे हैं तो आज हम आपके लिए रंगोली के खूबसूरत डिजाइन्स लेकर आए हैं। आप इसे घर व कार्यक्षेत्र में बना सकते हैं। 











तारीख 9 में पैदा हुई लड़कियां रिश्तों को अहमियत देती है

No comments

इंडेविन न्यूज नेटवर्क

हर कोई अपने नेचर से जाना जाता है। इसके पीछे का कारण व्यक्ति पर उसकी राशि, जन्म का महीना व तारीख का पड़ा प्रभाव हो सकता है। बात जन्म तारीख की करें तो इससे भी किसी के बारे में बहुत कुछ पता लगाया जा सकता है। तो चलिए आज हम आपको 9 तारीख में पैदा हुई लड़कियों का नेचर बताते हैं...

रिश्तों को अहमियत देने वाली

इन लड़कियों के लिए अपने पार्टनर व परिवार के ऊपर कुछ भी नहीं होता है। ऐसे में ये जीवन में अपने घर-परिवार को सबसे ज्यादा अहमियत देती है। साथ ही किसी परेशानी व समस्या को भी परिवार व पार्टनर के साथ शेयर करके उसे सुलझाना सही समझती है। 

स्वतंत्र ख्यालों की

तारीख 9 में जन्मीं लड़कियां बेहद ही स्वतंत्र ख्यालों की होती है। इन्हें अपनी जिंदगी में किसी की दखलअंदाजी व रोक-टोक बिल्कुल भी पसंद नहीं होती है। यहां तक की ये किसी बात फैसला लेने में भी किसी की सलाह देना सही नहीं समझती है। 

नई सोच की मालिक

ये लड़कियां जमाने के साथ चलने में विश्वास रखती है। इन्हें जीवन में नई-नई चीजों ढूंढ़ने व करने में मजा आता है। 

स्वभाव से गुस्सैल

9 तारीख में जन्मी लड़कियों का गुस्से हमेशा आसमान पर ही रहता है। इन्हें छोटी-छोटी बात पर भी जल्दी गुस्सा आ जाता है। ऐसे में इनके इस नेचर के चलते इनके अपने भी इनसे नाराज हो जाते हैं। 

लव नहीं अरेंज मैरिज में विश्वास 

ये लड़कियां प्यार के मामले में ज्यादा झुकना पसंद नहीं करती है। साथ ही स्वभाव से गुस्सैल होने से ये किसी के साथ भी जल्दी व गहरा संबंध बनाने में असमर्थ होती है। इसलिए इन लड़कियों की लव की जगह पर अरेंज मैरिज होने के चांचिस अधिक होते हैं। 

जल्दबाजी में फैसला लेने वाली

इनकी एक बुरी बात है कि ये हर चीज को जल्दी से करने में विश्वास रखती है। इनकी इसी आदत के कारण ये जल्दबाजी में कई फैसले ले लेती है। साथ ही इनके इऩ फैसलों के कारण इन्हें बाद में कई बार पछताना पड़ता है। 

मेहनत से जीत हासिल करने वाली

ये लड़कियां अपनी कड़ी मेहनत व लगन से काम करती है। साथ ही जीत हासिल करके ही मानती है। इनका मानना है कि कड़ी मेहनत से मुश्किल चीजें भी आसान हो जाती है। 

दिल की साफ

तारीख 9 में पैदा हुई लड़कियां किसी भी बात को दिल में रखने की जगह सही बोलने में विश्वास रखती है। ऐसे में हम इन्हें स्पष्टवक्ता कह सकते हैं। 


© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company