Responsive Ad Slot

देश

national

कोरोना के चलते अमेरिका में 2 सप्ताह में एक करोड़ लोग बेरोजगार ,66 लाख से ज्यादा कामगारों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए किया आवेदन

Saturday, April 4, 2020

/ by Editor
न्यूयॉर्क. 
कोरोनावायरस के बढ़ते ग्राफ के बीच अमेरिका में बेरोजगारी भी रिकॉर्ड लेवल पर पहुंच गई है। अमेरिका के श्रम मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 28 मार्च (शनिवार) को समाप्त हुए सप्ताह में 66 लाख से ज्यादा कामगारों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन किया है। अमेरिका के इतिहास में पहले सप्ताह के बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन करने वालों की यह सबसे बड़ी संख्या है। इससे पिछले सप्ताह 33 लाख कामगारों ने बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन किया था। वह भी उस सप्ताह का नया रिकॉर्ड था। इस तरह से दो सप्ताह में अमेरिका में बेरोजगार हो चुके लोगों की संख्या एक करोड़ तक पहुंच गई है। अभी इस सप्ताह का आंकड़ा आना बाकी है। अमेरिका में इससे पहले एक सप्ताह में सबसे ज्यादा 6.95 हजार लोगों ने 1982 में बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन किया था। 

नए बेरोजगारों की वास्तविक संख्या और ज्यादा होने का अनुमान
अमेरिका में बेरोजगार होने वालों की वास्तविक संख्या इससे भी ज्यादा हो सकती है। एक रिपोर्ट के मुताबिक कई लोगों ने टेलीफोन लाइन व्यस्त होने या बेरोजगारी भत्ता के लिए आवेदन करने में कठिनाई होने की शिकायत की है। इसके साथ ही अंशकालिक काम करने वाले व कुछ अन्य कैटेगरी के वर्कर्स को बेरोजगारी भत्ता की सुविधा नहीं मिली हुई है। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच के चीफ इकोनॉमिस्ट मिशेल मेयर कहते हैं, ‘मंदी के दौर में जो चीजें महीने और तिमाही में होती हैं, वह अब कुछ एक सप्ताह में ही हो जा रही हैं।’
अमेरिका में कंपनियां लगातार कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही हैं
कोरोनावायरस के बीच अमेरिकी कंपनियां लगातार कर्मचारियों को नौकरी से निकाल रही हैं। इससे आने वाले समय में और भी ज्यादा कामगारों को सरकारी सहायता पर निर्भर रहना पड़ सकता है। मार्च का रोजगार आंकड़ा शुक्रवार को आने वाला है। यह भी बहुत खराब होने की आशंका है। रिफिनिटिव के अनुमान के मुताबिक मार्च में अमेरिका में एक लाख लोगों के रोजगार खोने का आंकड़ा आ सकता है। इसके कारण बेरोजगारी की दर 3.5 फीसदी के ऐतिहासिक निचले स्तर से बढ़कर 3.8 फीसदी पर पहुंच सकती है। बेरोजगारी दर 2021 तक 9% तक भी पहुंच सकती है। मार्च का आंकड़ा बहुत बड़ा नहीं दिखेगा, क्योंकि जिस सर्वेक्षण के आधार पर महीने का आंकड़ा तैयार होता है, वह महीने के बीच में ही पूरा हो जाता है। जबकि इसके बाद के दो सप्ताह में लाखों लोगों ने रोजगार गंवाए हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company