Responsive Ad Slot

देश

national

बाबा की डोली आज पहुँचेगी केदारनाथ धाम, कल खुलेंगे कपाट

Tuesday, April 28, 2020

/ by Editor
देहरादून

मंत्रोच्चार के साथ केदारनाथ धाम के कपाट 29 अप्रैल को सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर खुल जाएंगे। इससे पहले रुद्रप्रयाग के गौरीकुंड से बर्फीले रास्ते से होते हुए बाबा केदारनाथ की डोली अपने दूसरे पड़ाव भीमबली पहुंच गई। आज बाबा की डोली केदारनाथ धाम के लिए रवाना हो गई है। बाबा की डोली ने गौरीकुंड से प्रस्थान किया था जहां मुख्य पुजारी ने चलविग्रह डोली में बाबा केदारनाथ की पंचमुखी भोगमूर्ति की विशेष पूजा अर्चना की थी। इस दौरान लोगों ने अपने घरों से ही हाथ जोड़कर बाबा केदारनाथ को धाम के लिए विदा किया। कोरोना संकट के बीच जारी लॉकडाउन में इस साल बाबा केदारनाथ की डोली और कपाट खोलने का कार्यक्रम सूक्ष्म रूप से हो रहा है।


खराब मौसम और बर्फ के बीच भीमबली पहुंची थी डोली

रविवार को केदारनाथ धाम के लिए रवाना हुई बाबा की चल विग्रह पंचमुखी उत्सव डोली ने रविवार रात्रि को गौरीकुंड में रात्रि विश्राम किया था। सोमवार को मौसम के खराब होने के बावजूद डोली ने दूसरे पड़ाव भीमबली के लिए प्रस्थान किया और शाम से पहले ही भीमबली पहुंची।

चारों ओर बर्फ ही बर्फ और तेज ठंडी हवाएं

रास्ते में चारों तरफ बर्फ ही बर्फ होने से इस डोली को पहुंचने में समय ज्यादा लगा। ठंड भी पूरी रास्ते तीर्थ पुरोहितों और डोली के कहार बने भक्तों को परेशान करती रही लेकिन केदारनाथ के दर्शनों की लालसा से सभी बड़े उत्साह से अपने गन्तव्य की ओर भोले बाबा की जय-जयकार करते बढ़ते रहे।

9 किमी लंबे बर्फीले रास्ते पर पैदल चलकर पहुंचेगी डोली

बाबा की डोली गौरीकुंड से रवाना होकर केदरनाथ धाम पहुंचती है। यह पैदल मार्ग नौ किमी रास्ता लंबा होता है। यहां जमी कई फीट गहरी बर्फ के बीच से तीन मीटर चौड़ा रास्ता बनाया गया है जिसपर चलते हुए जमाणियों (डोली ले जाने वाले) के कांधों पर सवार बाबा की डोली धाम पहुंचेगी।

लोगों ने घरों से ही हाथ जोड़कर किया डोली को विदा

बाबा की डोली ने गौरीकुंड से प्रस्थान किया था जहां मुख्य पुजारी ने चलविग्रह डोली में बाबा केदारनाथ की पंचमुखी भोगमूर्ति की विशेष पूजा अर्चना की थी। इस दौरान लोगों ने अपने घरों से ही हाथ जोड़कर बाबा केदारनाथ को धाम के लिए विदा किया।

मंदिर समिति, प्रशासन और पुलिस के 20 से अधिक लोग शामिल

कोरोना और लॉकडाउन के चलते इस बार केदारनाथ का कपाटोद्घाटन समारोह को सूक्ष्म रूप से किया जा रहा है। इसके लिए जिन लोगों को पास जारी हुए हैं, वे ही डोली के साथ शामिल हैं। बाबा केदार की चल विग्रह उत्सव डोली के साथ मंदिर समिति, प्रशासन और पुलिस के 20 से अधिक लोग आज धाम पहुंचेंगे।

29 अप्रैल को सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर खुलेंगे कपाट

29 अप्रैल को प्रातः 6:10 पर मेष लग्न में मंत्रोच्चार के साथ केदारनाथ मंदिर के कपाट खोले जाने पर गोली में विराजमान भगवान केदार के पंचमुखी विग्रह को मंदिर के गर्भगृह में विराजमान करा दिया जाएगा। इसके बाद केदारनाथ स्थित धाम ही पंचमुखी विग्रह का स्थान होगा और भक्त यहीं उनकी पूजा करेंगे।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company