Responsive Ad Slot

देश

national

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लॉकडाउन में फंसे हुए 1. 03 लाख प्रवासी बिहारियों के खाते में भेजे 1-1 हजार रुपए

Tuesday, April 7, 2020

/ by Editor

पटना. 
लॉकडाउन में फंसे प्रवासियों की आर्थिक मदद करने वाला बिहार देश का पहला राज्य बन गया है सोमवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना की शुरुआत करते हुए प्रवासियों के बैंक खाते में एक-एक हजार रुपए भेजे। अब तक 2 लाख 84 हजार 674 प्रवासियों ने सहायता के लिए मोबाइल एप के जरिए आवेदन दिए हैं। फिलहाल 1 लाख 3 हजार 579 प्रवासियों के बैंक खाते में 10 करोड़ 35 लाख 79 हजार रुपए ट्रांसफर किए गए। मुख्यमंत्री ने बाकी लाभुकों के खाते में भी जल्द रकम ट्रांसफर करने का आदेश दिया। 

अभी सारण के 7281, मुजफ्फरपुर के 6821, मधुबनी के 6792, पूर्वी चम्पारण के 6569, सीतामढ़ी के 6348, सीवान के 5897, दरभंगा के 5026, समस्तीपुर के 4264, गोपालगंज के 4240, वैशाली के 4145, पश्चिम चम्पारण के 3340, जमुई के 2523, भागलपुर के 2439, बांका के 2399, पटना के 2372, बेगूसराय के 2252, कटिहार के 2209, सुपौल के 2175, रोहतास के 2166, औरंगाबाद के 2158, गया के 2052, किानगंज के 1968, अररिया के 1793, पूर्णिया के 1747, भोजपुर के 1709, नालंदा के 1686 शामिल हैं।
कोरोना से लड़ने को 16 जिलाें में नए सिविल सर्जन
राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए जिलों में बेहतर चिकित्सीय प्रबंधन और प्रशासनिक दृष्टिकोण से सरकार ने 16 जिलों में नए सिविल सर्जन (सीएस) की पोस्टिंग करने का निर्णय लिया है। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार सबोर सामुदायिक केंद्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. संजीव कुमार सिन्हा को सीएस दरभंगा, सदर अस्पताल नवादा के चिकित्सा अधिकारी डॉ.विमल प्रसाद सिंह को सीएस नवादा, बररबीघा पीएचसी के चिकित्सा अधिकारी डॉ.आत्मानंद कुमार को सीएस लखीसराय, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी (एसीएमओ) शिवहर डॉ. राकेश चंद्र सहाय वर्मा को सीएस सीतामढ़ी, एसीएमओ अररिया डॉ. महेश्वर प्रसाद गुप्ता को सीएस कटिहार, बरौली पीएचसी के चिकित्सा अधिकारी डॉ. त्रिभुवन नारायण सिंह को सीएस गोपालगंज, एसीएमओ शेखपुरा डॉ. सुनील कुमार झा को सीएस मधुबनी, सीएचसी बैसी के चिकित्सा अधिकारी डॉ. श्रीनंदन को सीएस किशनगंज, एसीएमओ नालंदा डॉ. अवधेश कुमार को सीएस सहरसा, एसीएमओ समस्तीपुर डॉ. रति रमण झा को सीएस समस्तीपुर (मई 2020 से प्रभावी), एसीएमओ जमुई डॉ. विजयेंद्र सत्यार्थी को सीएस जमुई, एसीएमओ भागलपुर डॉ. अजय कुमार सिंह को सीएस खगड़िया, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी मुजफ्फरपुर डॉ. राजदेव प्रसाद सिंह को सीएस शिवहर, एसीएमओ भोजपुर डॉ. उमेश शर्मा को सीएस पूर्णिया, दानापुर अनुमंडल अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. यदुवंश कुमार शर्मा को सीएस सीवान और  एसीएमओ मुंगेर डॉ. सुधीर कुमार को सीएस रोहतास की जिम्मेदारी दी गई है। वहीं गोपालगंज के सिविल सर्जन डॉ. नंद किशोर प्रसाद सिंह का तबादला क्षेत्रीय मलेरिया अधिकारी भागलपुर के पद पर किया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। निर्देश में नवपदस्थापित पद पर जल्द योगदान देने को कहा गया है।
कोरोना संकट का असर : क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक पहली बार वीसी से
कोरोना संकट को देखते हुए शीर्ष अफसरों भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर जोर दे रहे हैं। यह नजारा सोमवार को कोरोना संकट पर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में दिखा। राज्य में लॉकडाउन के बाद से पहली बार अधिकारियों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक की। इस दौरान मुख्य सचिव दीपक कुमार अपने घर से ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हालात का जायजा लेते रहे। वहीं डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय समेत अधिकतर विभागों के प्रधान सचिव भी अपने-अपने चेंबर में ही मौजूद रहे।
सभी डीएम और एसपी को निर्देश : राहत केंद्र और क्वारेंटाइन सेंटर पर पुख्ता सुरक्षा करें
मुख्य सचिव ने जिलाधिकारियों और एसपी को आपदा राहत केंद्रों और क्वारेंटाइन सेंटर पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने का आदेश दिया। सीवान और गया की घटनाओं का हवाला देकर मुख्य सचिव ने कहा कि कहीं भी हंगामा या बाहरी घुसपैठ नहीं होना चाहिए। जिलाधिकारी और एसपी की यह संयुक्त जिम्मेदारी रहेगी। इन सेंटरों में रहने वाले लोगों की सुविधा का खास ध्यान रखा जाए। लेकिन, बेवजह समस्या खड़ी करने वालों के खिलाफ कार्रवाई में भी नरमी नहीं बरती जानी चाहिए।
स्वास्थ्य विभाग का फैसला : होटल और लॉज में भी बनेंगे आइसोलेशन-क्वारेंटाइन सेंटर
स्वास्थ्य विभाग पूरे राज्य में मेडिकल कॉलेज, जिला, अनुमंडल व प्रखंड स्तर के अस्पतालों में बने आइसोलेशन व क्वारेंटाइन सेंटर के अतिरिक्त  सात हजार रूम की व्यवस्था करने की रणनीति बनाई है। सबसे अधिक 762 रूम किशनगंज में, पटना में 575 के साथ-साथ अन्य जिलों को मिलाकर कुल 7163 रूम जिला प्रशासन ने के पास अभी है। जरूरत पड़ने पर जिलों के होटल और लॉज में भी आइसोलेशन और क्वारेंटाइन सेंटर बनाने का निर्णय लिया गया है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company