Responsive Ad Slot

देश

national

लव अग्रवाल का है बिजनौर से रिश्ता ,कोरोना के खिलाफ कर रहे देश की मॉनिटरिंग

Sunday, April 12, 2020

/ by Editor
संजय सक्सेना

बिजनौर 

महात्मा विदुर की तपोभूमि जिला बिजनौर का नाम भी कोरोना वायरस के विरुद्ध लड़ाई में राष्ट्रीय स्तर पर जुड़ गया है। देश की मॉनिटरिंग करने में शामिल सीनियर आईएएस लव अग्रवाल (संयुक्त सचिव स्वास्थ्य विभाग भारत सरकार) की यहां ननिहाल है।

चांदपुर तहसील के मोहल्ला मंडी कोटला निवासी स्वर्गीय लक्ष्मीचंद उर्फ लच्छू लाला की पुत्री श्रीमती विजय अग्रवाल पत्नी कृष्ण गोपाल अग्रवाल निवासी सहारनपुर के बड़े पुत्र सीनियर आईएएस लव अग्रवाल स्वास्थ्य विभाग भारत सरकार में संयुक्त सचिव के पद पर कार्यरत हैं। वह उन गिने-चुने व्यक्तियों में हैं जो राष्ट्रीय स्तर पर देश की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

बिजनौर जनपद वरिष्ठ आईएएस लव अग्रवाल की ननिहाल है। उनके मामा जी वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाषचंद्र एडवोकेट, प्रभास अग्रवाल  एवं राकेश अग्रवाल भाई,विशाल अग्रवाल एडवोकेट बिजनौर, धर्मेंद्र अग्रवाल डायरेक्टर विवेक कॉलेज,  मोहित अग्रवाल डायरेक्टर ओसीआई चांदपुर, गौरव अग्रवाल सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता दीवानी जिला बिजनौर जनपद में ही निवास करते हैं।

40 वर्षीय आईआईटीयन  लव अग्रवाल आंध्र प्रदेश कैडर के आईएएस अफसर हैं। उनकी पहचान इनोवेटिव आईएएस अफसर की है। टेलीविजन पर कोरोनावायरस का नियमित अपडेट देने वाले भारत सरकार के संयुक्त स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल इन दिनों विख्यात चेहरा बन चुके हैं। कोरोना से लड़ रही केंद्रीय टीम के नेतृत्व कर्ताओं में एक अहम कड़ी उक्त अधिकारी की भी है। यह जनपद बिजनौर के लिए गौरव की बात है कि  कोरोना जैसी महामारी से लड़ाई में अग्रिम पंक्ति का यह योद्धा दिन रात एक किए  हुए है।

चुनौतियां स्वीकार कर  टकराना है आदत

वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष चंद्र अग्रवाल ने मोबाइल फोन पर वार्ता में बताया कि लव अग्रवाल उनके भांजे हैं। वह रोजाना 20 से 21 घंटे कार्य कर रहे हैं। वरिष्ठ अधिवक्ता का कहना है कि लव अग्रवाल हार मानने वालों में से नहीं हैं,  चुनौतियां स्वीकार कर  टकराना मेरे भांजे की आदत में शुमार है। उन्होंने बताया कि 28 अगस्त 2016 को भारत सरकार के मंत्रालय में संयुक्त सचिव बनाए गए थे। वह ग्लोबल हेल्थ, मेंटल हेल्थ ,टेक्नोलॉजी पब्लिक पॉलिसी जैसे अहम विषयों का कार्यभार देखते हैं। कई अंतरराष्ट्रीय मंच पर भी वह भारत का पक्ष रख चुके हैं। जी-20 देशों के हेल्थ वर्किंग ग्रुप के सम्मेलन में आयुष्मान भारत का प्रजेंटटेंशन भी लव अग्रवाल ने दिया था।  स्वास्थ्य सचिव डॉ प्रीती सुदन के साथ वह यूएस इंडिया हेल्थ डायलॉग में  भी शामिल रहे। अब कोरोना से भी देश को बचाने के लिए गठित नेशनल डेस्क का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कोरोना को मात देने के लिए योजना बनाने से लेकर क्रियान्वयन तक उनका जिम्मा है।

भिड़ गए थे मछली माफिया से

वरिष्ठ अधिवक्ता सुभाष अग्रवाल ने बताया कि आंध्र प्रदेश में तैनाती के दौरान दो हजार करोड़ का मछली उत्पादन करने वाली कोललेरू झील को बचाने के लिए वह  माफियाओं से भिड़ गए थे। अब देश को कोरोना वायरस से बचाने के लिए कमर कसे हुए हैं। स्वजन बताते हैं कि इन दिनों लव अग्रवाल रोजाना 20 से 21 घंटा सेवा दे रहे हैं।  किसी भी राज्य में कोराना की जंग कमजोर ना पड़े यह उनकी प्राथमिकता है। लव अग्रवाल सहारनपुर के मूल निवासी हैं। शहर के ग्रीन पार्क कॉलोनी में उनके पिता चार्टर्ड अकाउंटेंट कृष्णगोपाल अग्रवाल व उनकी माता विजय अग्रवाल सहित पूरा परिवार रहता है। धर्मपत्नी डॉक्टर नीरज अग्रवाल, पुत्र नेहुल, पुत्री गोरी है, जो दिल्ली में रहते हैं। लव के मामा बताते हैं कि वह अपने परिजनों से बहुत प्रेम करते हैं और हर परिस्थिति में उनका ख्याल रखते हैं, रोजाना सुबह-शाम फोन करके हालचाल कुशलक्षेम लेते हैं, लेकिन अब वह व्यस्तता के चलते देर रात्रि घर पहुंच पाते हैं और सभी को बचाव करने की सलाह देते हैं। 

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company