Responsive Ad Slot

देश

national

विद्यालय प्रबंधक महासंघ-अवध के प्रबन्धकों द्वारा सरकार से की जायज मांगे

Thursday, May 28, 2020

/ by Editor

मुकेश कुमार 
माल-लखनऊ 

निजी विद्यालयों को कोरोना महामारी में आर्थिक दृष्टि से कमजोर विद्यालयों को राहत देने के संबंध में उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री मोहनलालगंज के सांसद को पत्र लिखकर राहत की मांग की।
आपको बता दें कि कोविड 19 कोरोना महामारी से संपूर्ण विश्व प्रभावित है। पूरी दुनिया में इस वायरस से संक्रमण फैला हुआ है। इस संक्रमण से बचाव के लिए मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार  उत्तर प्रदेश में 15 मार्च 2020 से निजी विद्यालयों की गतिविधियां पूर्ण रूप से बंद हैं। जिसके कारण विद्यालयों को आर्थिक संकट से जूझना पड़ रहा है। शिक्षा अधिकारी के बार-बार निजी विद्यालयों के विरोध में आदेश दिए जा रहे हैं। जिसके कारण प्रबंधक /शिक्षक /अभिभावक और छात्रों में भ्रम की स्थिति स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है।  

निजी विद्यालय मार्च 2020 से बंद है, जिसके कारण स्कूलों को अब अपनी मूलभूत आवश्यकताओं जैसे लोन, पानी का बिल ,बिजली का बिल, मेंटेनेंस, प्रोविडेंट,आई०टी० आज को पूरा करने में समस्या आने लगी है। विद्यालय के प्रबंधको के पास सभी संसाधनों को पूरा करने में बड़ी दिक्कतें हो रही हैं । अतः विद्यालय द्वारा सभी संसाधनों को पूरा कर पाना नामुमकिन है ।

1-कक्षा 1 से 8 तक कि छात्रवृत्ति को पुनः बहाल करने की मांग की 
2-मिड डे मील योजना के अंतर्गत सरकारी विद्यालयों की भांति निजी विद्यालयों को भी ड्रेस मिड डे मील योजना के अंतर्गत खाद्यान्न उपलब्ध करवाया जाए।
3-लॉक डाउन की अवधि में निजी विद्यालय के शिक्षकों को व विद्यालय को राहत प्रदान की जाए।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company