Responsive Ad Slot

देश

national

हत्याओं का सिलसिला जारी, जिम्मेदार मौन

Sunday, May 3, 2020

/ by Editor

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

 लाक डाउन मे मिली कामयाबी से अमेठी को ग्रीन दर्जा मिल गया है लेकिन हत्या जैसी घटनाओं का हॉटस्पॉट बना हुआ है । अब अमेठी जिले में कोरोना वायरस महामारी का संक्रमण के प्रकोप की गुंजाइश  की संभावना बहुत कम हो गई है । जिसके कारण प्रशासन को  खूब वाह - वाही खूब मिली। अभी लाक डाउन का दौर चल ही रहा है। जिले में हत्याकांड का सिलसिला जारी हो चला है। थाना कोतवाली अमेठी के गांव हाटी में निशा पत्नी उदय सिंह 24 वर्ष की ससुरालवालों ने गले में फांस लगाकर हत्या कर दी गई। मृतका की मां माधुरी सिंह ने आरोप लगाया है कि मेरी बेटी निशा को दहेज के लिए हत्या कर दी और आए दिन मारते - पीटते रहे। घरेलू हिंसा की शिकार हुई। 

पुलिस ने गुरुवार को हुए हत्या के मामले में मुकदमा दर्ज नहीं किया। आरोपियों की गिरफ्तारी दूर की बात है। न्याय अमेठी में पीड़ितों को नहीं मिल रहा है। शनिवार को थाना मुंशीगंज के गांंव हरिहर में अवधेश सिंह 58 वर्ष को पीट कर लहूलुहान कर दिया गया । जिनकी उपचार के दौरान अस्पताल में मौत हो गई। घटना का मुआयना पुलिस अधीक्षक अमेठी डां ख्याति गर्ग, पुलिस उपाधीक्षक गौरीगंज अर्पित कपूर ने किया। मृतक अवधेश सिंह के पुत्र चन्दन सिंह ने थाने में मुकदमा अपराध संख्या 140/2020 की भादसं की धारा 147,148,149,323,504,302,34,के तहत राजेश, शशांक, कृष्ण पाल, दुर्योधन व अवध राज के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। लेकिन आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर है। पुलिस प्रशासन लाक डाउन में चुप्पी साध रखी है। 

तीसरी घटना शनिवार और रविवार की रात को थाना मोहनगंज के गांंव लालपुर में दुकानदार रामकुमार पाल पुत्र हरिप्रसाद पाल की चारपाई में बांधकर शतिर लोगों ने हत्या कर दी। घटना के निरीक्षण के लिए अपर पुलिस अधीक्षक अमेठी दयाराम सरोज, पुलिस उपाधीक्षक गौरीगंज अर्पित कपूर पहुंचे। उन्होंने कार्यवाही की बात कही। लेकिन हत्या को लेकर लोगों में रोष व्याप्त है। शव को पोस्टमार्टम के लिए मोहनगंज पुलिस ने भेजा है। लेकिन हत्यारों की सुराग पुलिस के हाथ अब तक नहीं है।                                  

गौरतलब है कि जिले में हत्या का सिलसिला जारी है और मुकदमा दर्ज करने में पुलिस परेशानी महसूस कर रही हैं। दर्ज भी कर लिया है तो आरोपी की गिरफ्तारी भी मुश्किल है। घटनाओ को लेकर लोगों में रोष व्याप्त है। प्रशासन के लचर ब्यवस्था के चलते हत्याकांडो में रोक नहीं लग पा रहीं हैं। लोगों ने कांग्रेस राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से हत्या कांड के सिलसिले पर रोक लगाने की मांग उठाई है। केन्द्रीय मंत्री ईरानी हत्या की घटनाओं पर चुप्पी साध रखी है। पुलिस प्रशासन भी मौन है। आखिरकार लोगों को सुरक्षा कैसे मिलेगी।


No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company