Responsive Ad Slot

देश

national

केजरीवाल सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को दिखाया अलग देश,हंगामे के बाद केजरीवाल ने जिम्मेदार अफसर को सस्पेंड किया

Saturday, May 23, 2020

/ by Editor
नई दिल्ली
दिल्ली सरकार ने एक विज्ञापन में सिक्किम को अलग देश बता दिया। सिक्किम ने इस पर सख्त विरोध जताया। इसके बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कार्रवाई की। एक अफसर को सस्पेंड कर दिया। 
नेपाल और भूटान से तुलना
दिल्ली सरकार ने वॉलंटियरों को जॉइन करने के लिए एक विज्ञापन अखबार में प्रकाशित कराया था। इसमें सिक्किम को नेपाल और भूटान की तरह ही अलग देश बताया गया। इसके बाद सिक्किम के चीफ सेक्रेटरी ने केजरीवाल को चिट्ठी लिखी। इसे अपमानजनक बताया। साथ ही विज्ञापन को फौरन वापस लेने की मांग की। मामला बढ़ा तो केजरीवाल ने सफाई दी। कहा, ‘‘सिक्किम भारत का अटूट हिस्सा है। इस तरह की गलती बर्दाश्त नहीं की जाएगी। विज्ञापन को वापस ले लिया गया है। अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई है।’’
भाजपा भी दिल्ली सरकार के विज्ञापन में सिक्किम को अलग देश बताने पर भड़क उठी। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने सवाल उठाते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को बताना चाहिए कि दिल्ली सरकार ने सिक्किम को अलग देश के रूप में क्यों दिखाया।
दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने अपने एक वीडियो संदेश में कहा, “आज जैसे ही सुबह अखबार उठाया। दिल्ली सरकार के एक विज्ञापन पर नजर पड़ी, जिसमें सिक्किम को एक अलग देश दिखा रहे हैं। एक प्रदेश की सरकार ऐसा कैसे कर सकती है। क्या वो इतनी अनाड़ी हो सकती है कि वो एक राज्य को स्वतंत्र देश दिखा दे। इतना बड़ा विज्ञापन जाने से पहले क्या इसे चूक माना जा सकता है। तो समझिए कितनी बड़ी-बड़ी चूक हो रही है। अरविंद केजरीवाल जी जागिए। आपने क्या किया है दिल्ली को बताइए। सवाल बड़ा है, बात बहुत दूर तक जाएगी।”
बता दें कि सिविल डिफेंस कोर में स्वयंसेवक के तौर पर भर्ती होने के लिए शनिवार को अखबारों में जारी विज्ञापन में केजरीवाल सरकार ने पात्रता की चार शर्तें तय कीं थीं। जिसमें पहली शर्त में कहा गया कि वह भारत का नागरिक हो या भूटान, नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो तथा दिल्ली का निवासी हो। भाजपा का कहना है कि सिक्किम की प्रजा का उल्लेख करने से लगता है कि दिल्ली सरकार भारत के इस अभिन्न अंग को अलग देश मान रही है। जिस पर भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी सहित कई नेताओं ने ट्वीट कर केजरीवाल सरकार से जवाब मांगा है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company