Responsive Ad Slot

देश

national

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार रॉबर्ट ओब्रायन ने कहा-पिछले 20 साल में चीन से 5 संकट आए, ये सिलसिला रुकना चाहिए

Wednesday, May 13, 2020

/ by Editor
वॉशिंगटन
कोरोनावायरस के मुद्दे पर अमेरिका लगातार चीन पर हमले कर रहा है। अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) रॉबर्ट ओब्रायन ने कहा है कि पिछले 20 साल में चीन से 5 संकट आ चुके हैं। इस सिलसिले को रोकना जाना चाहिए। ओब्रायन ने कहा- सार्स, एवियन फ्लू, स्वाइन फ्लू और कोरोनावायरस चीन से आए। हालांकि, उन्होंने पांचवें संकट का नाम नहीं बताया।

पूरी दुनिया चीन से जवाब मांगेगी: ओब्रायन
अमेरिका के एनएसए ने कहा, "हमें पता है कि कोरोनावायरस चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में फैला, इस बात के कुछ सबूत भी हैं। भले ही वायरस लैब से निकला हो या फिर मीट मार्केट से, लेकिन बार-बार चीन का नाम आना अच्छी बात नहीं। अब पूरी दुनिया चीन की सरकार से कहेगी कि बार-बार ऐसे संकट नहीं झेल सकते।"
'हमने मदद का प्रस्ताव दिया, चीन ने मना कर दिया'
ओब्रायन ने कहा कि चीन चाहता तो कोरोनावायरस को रोक सकता था। हमने हेल्थ प्रोफेशनल भेजने का प्रस्ताव दिया, लेकिन उन्होंने मना कर दिया। पत्रकारों ने ओब्रायन से पूछा कि क्या अमेरिका अब भी कोरोनावायरस की उत्पत्ति के सबूत तलाश रहा है? उन्होंने जवाब दिया- इस बारे में कोई तय समय नहीं बता सकता, लेकिन हम लगातार समीक्षा कर रहे हैं। यह एक गंभीर मुद्दा है।
कोरोना से दुनियाभर में 2.50 लाख लोगों की मौत
ओब्रायन का कहना है कोरोनावायरस सिर्फ अमेरिका के लिए नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए खतरनाक हो गया है। दुनियाभर में 2.50 लाख लोगों की मौत हो चुकी है, 40 लाख से ज्यादा संक्रमित हैं। अमेरिका सबसे ज्यादा प्रभावित है। वहां 80 हजार लोगों की मौत हो चुकी और 14 लाख संक्रमित हैं।
'चीन को भविष्य में ऐसे खतरों को रोकना होगा'
ओब्रायन ने कहा कि कोरोनावायरस की वजह से दुनिया की अर्थव्यवस्था थम गई। पिछले 20 साल में पांचवीं बार ऐसा हुआ है। चीन को ऐसा होने से रोकना चाहिए था। चीन को बाकी दुनिया से मदद की जरूरत है। लोगों के स्वास्थ्य संकट से निपटने में हम चीन की मदद के लिए तैयार हैं ताकि दोबारा ऐसा खतरा नहीं हो।
अमेरिकी सीनेट में चीन पर बैन लगाने का प्रस्ताव
अमेरिका और चीन के बीच टकराव अभी और बढ़ सकता है। बीबीसी के मुताबिक, सीनेट में चीन पर बैन लगाने का प्रस्ताव लाया गया है। रिपब्लिकन सांसदों ने मंगलवार को ऐसा कानून लाने का प्रस्ताव रखा, जिससे अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को चीन पर बैन लगाने की ताकत मिले। अमेरिका के रिपब्लिकन सांसदों का कहना है कि चीन महामारी को लेकर जानकारी छिपा रहा है, उस पर बैन लगना चाहिए। चीन ने शुरू से ही धोखा दिया, जिसकी वजह से लाखों लोगों की जान गई।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company