Responsive Ad Slot

देश

national

नोएडा :मोबाइल में बगैर आरोग्य सेतु ऐप के बाहर निकले तो मिल सकती है सजा

Monday, May 4, 2020

/ by Editor
नोएडा


आरोग्य सेतु ऐप को लेकर इन दिनों राजनीति जोरों पर है। इस बीच गौतमबुद्धनगर जिले में इस ऐप को डाउनलोड करना सभी के लिए अनिवार्य कर दिया गया है। 3 मई की देर शाम अडिशनल डीसीपी आशुतोष द्विवेदी ने लॉकडाउन 3.0 के लिए दिशा-निर्देश जारी किए। इसके अनुसार, अब स्मार्टफोन में बगैर आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड किए बाहर निकलने पर इसे लॉकडाउन का उल्लंघन माना जाएगा। यह नियम आज से लागू होगा।


अडिशनल डीसीपी ने जो दिशा-निर्देश जारी किए हैं, उसमें साफ लिखा है कि स्मार्टफोन यूजर्स के मोबाइल पर अगर आरोग्य सेतु ऐप इंस्टॉल नहीं होगा तो यह भी लॉकडाउन निर्देश के उल्लंघन के अंतर्गत दंडनीय होगा। आपको बता दें कि लॉकडाउन के निर्देशों का उल्लंघन करने पर पुलिस आईपीसी की धारा 188 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के तहत कार्रवाई कर रही है। इसमें जुर्माने से लेकर जेल जाने तक का प्रावधान शामिल है।

इससे पहले कोरोना वायरस को ट्रैक करने वाले आरोग्य सेतु ऐप को केंद्र सरकार ने सरकारी और प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले कर्मचारियों के लिए अनिवार्य किया है। सभी ऑर्गनाइजेशन के प्रमुखों को इस आदेश का 100 फीसदी पालन करने के निर्देश भी दिए गए हैं। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने यह भी कहा है कि कोविड-19 कंटेनमेंट जोन में रह रहे लोगों के लिए भी आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप इस्तेमाल करना जरूरी होगा।

केंद्र सरकार ने निजी कर्मचारियों के लिए भी अनिवार्य किया ऐप
मंत्रालय के आदेश के मुताबिक, 'पब्लिक और प्राइवेट सेक्टर के सभी कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल अनिवार्य होगा। सभी संस्थानों के प्रमुख की यह जिम्मेदारी होगी कि वह यह सुनिश्चित करें कि 100 फीसदी यानी सभी कर्मचारियों द्वारा ऐप का इस्तेमाल किया जाए।'

मोबाइल ऐप आरोग्य सेतु कोविड-19 के खतरे से अलर्ट रहने में यूजर की मदद करता है। इसके साथ ही यह लोगों को जरूरी जानकारी, कोरोना के संक्रमण से बचने के तरीके और लक्षण के बारे में भी जानकारी देता है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company