Responsive Ad Slot

देश

national

केंद्र ने दी पुरी यात्रा के लिए रथ बनाने को मंजूरी दी, लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तों के साथ काम होगा

Friday, May 8, 2020

/ by Editor
पुरी
भगवान जगन्नाथ की ओडिशा के पुरी से रथयात्रा निकालने के लिए केंद्र सरकार ने रथ निर्माण की अनुमति दे दी है, लेकिन मंदिर समिति को इसके लिए लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग की सारी शर्तों का पालन करना होगा। रथयात्रा 23 जून को निकलनी है। केंद्र सरकार की अनुमति के बाद रथयात्रा को लेकर चल रहे संशय पर कुछ हद तक विराम लगा है। हालांकि, रथयात्रा अगर निकलती है तो उसका स्वरूप कैसा होगा, इसे लेकर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है।

केंद्र सरकार ने अपनी अनुमति में ये साफ किया है कि रथ निर्माण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पूरा पालन जरूरी है। रथ का निर्माण भी ऐसी जगह होना चाहिए जहां पर आम लोग इकट्ठा ना हों। अभी तक रथ का निर्माण मंदिर के सामने ही होता आया है, जो रथयात्रा का मुख्य मार्ग है। यहां लोगों के जमा होने की संभावना है, इसलिए रथ का निर्माण कहीं ओर हो, जहां भीड़ एकत्र ना हो सके।
मंदिर 20 मार्च से बंद
रथयात्रा को लेकर इस बार काफी समय से संशय की स्थिति चल रही है। कोरोना वायरस के चलते मंदिर 20 मार्च से ही श्रद्धालुओं के लिए बंद है। रथयात्रा जगन्नाथ मंदिर का सबसे बड़ा उत्सव है। इसमें देश-दुनिया से 10 लाख से भी ज्यादा लोग शामिल होते हैं। लॉकडाउन के बाद से ही कोरोना के कारण ये माना जा रहा था कि इस साल रथयात्रा संभवतः निरस्त ही होगी। 26 अप्रैल को अक्षय तृतीया से मंदिर में भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और देवी सुभद्रा का रथ तैयार होना था लेकिन लॉकडाउन के चलते शुरू नहीं हो पाया था।
4 मई को श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंधन समिति ने इस पर मामले पर मीटिंग के बाद ये तय किया था कि पुरी जिला कोरोना से लगभग मुक्त है और ग्रीन जोन में है, इसलिए यहां रथ निर्माण शुरू किया जाना चाहिए, क्योंकि रथ निर्माण कोई धार्मिक उत्सव नहीं है, ये एक तरह का निर्माण कार्य ही है। मंदिर समिति ने ये प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था, राज्य सरकार ने केंद्र को भेज दिया था।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company