Responsive Ad Slot

देश

national

पथरी के बहाने मरीज का गुर्दा निकाला डॉक्टर गिरफ्तार, हॉस्पिटल सील

Saturday, June 27, 2020

/ by Editor
संजय सक्सेना 
लखनऊ। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक डॉक्टर ने मरीज का गुर्दा निकाल लिया। सीने में दर्द की शिकायत लेकर चिकित्सक के पास पहुंचे उक्त व्यक्ति के गुर्दे में पथरी बताकर चिकित्सक ने आपरेशन कर दिया। मरीज की हालत बिगड़ने पर  परिजनों ने हंगामा कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपी चिकित्सक को हिरासत में ले लिया और हॉस्पिटल सील कर दिया। वहीं गम्भीर अवस्था में मरीज को एक अन्य अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी हालत गम्भीर बनी हुई है। 
जानकारी के अनुसार कस्बा मीरापुर के मोहल्ला मुशतर्क निवासी सुक्का कुरेशी पुत्र इकबाल कुरेशी को पिछले कई दिनों से सीने में दर्द से परेशान था। उसने मीरापुर के कई चिकित्सकों से दवाई भी ली, लेकिन कुछ खास असर नहीं हुआ। दिक्कत बढने के कारण आज सुक्का अपनी पत्नी व पुत्र के साथ नई मंडी क्षेत्र में स्थित गर्ग हास्टिल पहुंचा। वहां चिकित्सक डा. विभोर गर्ग ने सुक्का की जांच पडताल की और छाती का एक्सरे आदि कराने के बाद बताया कि गुर्दे में पथरी फंसी हुई है और इसी कारण दर्द है।

दवाई से काम नहीं चलेगा, ऑपरेशन ही करना पडेगा। सुक्का कुरेशी के पुत्र ने चिकित्सक से ऑपरेशन की बात तय कर अग्रिम धनराशि भी जमा करा दी। आरोप है कि चिकित्सक ने उन्हें कहा था कि मात्र तीस मिनट में दूरबीन विधि द्वारा बेहद आसानी से आपरेशन कर पथरी निकाल दी जायेगी। लगभग चार बजे सुक्का कुरेशी को ऑपरेशन थियेटर में ले जाया गया और तीन घंटे तक उसका आपरेशन चलता रहा।

मरीज की पत्नी व पुत्र लगातार परेशान रहे और स्टाफ से ऑपरेशन के बारे में जानकारी करते रहे। इस पर स्टाफ उन्हें टरकाता रहा और कुछ ही देर में चिकित्सक से पूछकर बताने की बात कहता रहा। जब तीन घंटे से ज्यादा का समय बीत गया तो सुक्का का पुत्र उत्तेजित हो कर  ऑपरेशन थियेटर में घुस गया। उसने देखा कि बैड पर उसके पिता की हालत बिगडी हुई है और चिकित्सक व स्टाफ गुर्दे को बर्फ के टुकडों के बीच रखकर पैक कर रहे हैं। सुक्का के पुत्र ने जब चिकित्सक से ऑपरेशन में इतना समय लगने और गुर्दा निकालने के बारे में पूछा तो चिकित्सक ने बताया कि गुर्दा डैमेज हो गया था और मरीज की जान को भी खतरा बन गया था, इसी कारण गुर्दा ही निकालना पड़ा। 

इस बात पर हंगामा करते हुए मरीज की पत्नी व पुत्र ने शोर मचा दिया। मरीज के पुत्र ने आरोप लगाया कि गुर्दे में फंसी पथरी निकालने के बहाने पूरा गुर्दा निकाल लिया गया और उसे बेचने की तैयारी की जा रही थी। मरीज के पुत्र ने यह भी आरोप लगाया कि उक्त चिकित्सक गुर्दा निकाल कर बेचने वाले गैंग से जुडा हुआ है। हंगामा होने की सूचना मिलने पर सीओ नई मंडी योगेन्द्र सिंह, कोतवाल हरशरण शर्मा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और हंगामा कर रहे मरीज के परिजनों को बामुश्किल शांत किया।

पुलिस ने चिकित्सक को हिरासत में ले लिया और नर्सिंग होम पर ताला डाल दिया। मरीज की हालत खराब होते देख पुलिस के सहयोग से उसे दूसरे अस्पताल में ले जाकर भर्ती कराया गया। इस दौरान वहां घंटों तक हंगामा व अफरा-तफरी का माहौल रहा। वहां भर्ती दूसरे मरीजों को भी उनके परिजन वहां से अन्यंत्र स्थान पर ले गये

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company