Responsive Ad Slot

देश

national

सुल्तानपुर जिले के विकासखंड दूबेपुर में नाबालिक बच्चों से कराया जा रहा मनरेगा का काम

Tuesday, June 23, 2020

/ by Editor
इंडेविन टाइम्स - राष्ट्रीय हिंदी समाचार पत्र 
  • सुल्तानपुर जिले के विकासखंड दूबेपुर के सोन का पुरवा मजरे नोनरा गांव का मामला 
  • ग्राम विकास अधिकारी मनोज कुमार और ग्राम प्रधान कलावती यादव की मिलीभगत से हो रहा अपराध 
  • मौजूदा प्रधान कलावती यादव के पति राम मनोरथ यादव की दबंगई में हो रहा आपराधिक कृत्य 
  • नाबालिक बच्चों  से कराया जा रहा मनरेगा का काम
  • नियम कानून को ताक पर रखकर कराया जा रहा तालाब का नवीनीकरण
  • बाल मजदूरी संरक्षण अधिनियम की उड़ रहीं धज्जियाँ 
  • उच्च अधिकारियों के संज्ञान में मामला पर कोई कार्यवाही नहीं 
  • योगी सरकार से अपील - ग्राम प्रधान और संलिप्त अधिकारियों के खिलाफ करे कार्यवाही 
  • घटनाक्रम की पूरी वीडियो, फोटो व साक्ष्य इंडेविन टाइम्स के पास मौजूद 
दूबेपुर/सुलतानपुर। 
लॉकडाउन के चलते जहां मजदूरों का हाल बेहाल है वही नियम कानून को ताक पर रखकर तालाब का नवीनीकरण कराया जा रहा है जिसमें नाबालिक बच्चे मजदूरी कर रहे हैं ।
मामला विकास  खंड दुबेपुर के सोन का पुरवा मजरे नोनरा गांव का है। जहां की मौजूदा प्रधान  कलावती यादव व उनके पति राम मनोरथ यादव तथा ग्राम विकास अधिकारी की मिलीभगत से नियम कानूनों को ताक पर रखकर तालाब का नवीनीकरण काम कराया जा रहा है। जिसमें नाबालिक बच्चे मजदूरी कर रहे हैं। नाबालिक बच्चों से मजदूरी कराना अपराध है फिर भी सब कुछ जानते हुए ग्राम प्रधान कलावती द्वारा उन्हें तालाब की खुदाई में लगाया गया है। 
स्थानीय लोगों का कहना है कि ग्राम प्रधान का यह कृत्य अपराधिक है। इसके खिलाफ उन्हें बाल मजदूरी संरक्षण अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत करा कर के कार्यवाही की जानी चाहिए। जिससे कोई भी ग्राम प्रधान पढ़ने वाले अबोध बच्चों को मजदूरी के काम में ना लगा सके। इससे जनता में एक संदेश जाएगा कि 'बाल मजदूरी कराना कानूनन जुर्म है' की मुहिम तेज होगी और कोई भी व्यक्ति नाबालिक बच्चों से मजदूरी का काम नहीं कराएगा।
यह पूरा मामला उच्च अधिकारियों के संज्ञान में है लेकिन अब तक ग्राम प्रधान व ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ न तो कोई कार्यवाही हुई है न ही मुकदमा पंजीकृत हुआ है। आखिर उच्च अधिकारी चुप्पी साधे क्यों बैठे हुए हैं। अब देखना यह होगा कि पूरे मामले में कोई कार्यवाही होगी या मामले को लीपापोती कर रफादफा कर दिया जाएगा। 

इंडेविन टाइम्स योगी सरकार और जिला अधिकारी सुल्तानपुर से अपील करता है कि इस मामले को लेकर ग्राम प्रधान और ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ बाल श्रम (निषेध और विनियमन) अधिनियम के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए, जिससे कोई भी बाल श्रम (निषेध और विनियमन) अधिनियम की धज्जियाँ न उड़ा सके। 

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company