Responsive Ad Slot

देश

national

यूपी: कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय लल्लू ने कहा- श्रमिकों के लिए हजार बार जेल जाने को तैयार

Thursday, June 18, 2020

/ by Editor
लखनऊ
उत्तर प्रदेश कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू 27 दिन तक जेल में रहने के बाद बुधवार देर शाम को जेल से जमानत पर रिहा हुए थे। जेल से बाहर निकलने के बाद गुरुवार को उन्होंने कहा कि भाजपा की गरीब विरोधी मानसिकता साफ हो गई है। मजदूरों की सेवा करने, उन्हें सुरक्षित लाने की पहल करने पर जेल भेजा जाता है। फर्जी मुकदमें दर्ज किए जाते हैं लेकिन भाजपा देश विरोधी, गरीब-मजदूर विरोधी नीतियों और तानाशाही के दम पर हमारा सेवा कार्य नहीं रोक सकती।
 प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू श्रमिकों को दी जाने वाली बसों की सूची में फर्जीवाड़ा करने तथा बिना परमीशन धरना देने के आरोप में 20 मई से जेल में बंद थे। रिहा होने के बाद गुरुवार को पार्टी कार्यालय पर आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में उन्होंने कहा- राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी ने पैदल चल रहे प्रवासी श्रमिकों के लिए बसें चलवाने की अनुमति मांगी, लेकिन सरकार ने अपनी गरीब विरोधी मानसिकता का परिचय दिया। मजदूरों की सेवा में लगे हमारे नेताओं के ऊपर फर्जी मुकदमा दर्ज कर दिया। मुझे जेल भेज दिया गया। लेकिन, योगी आदित्यनाथ की सरकार भूल गई है कि हम अंग्रेजों से लड़े हैं। आप जैसे तानाशाह, गरीब विरोधी और अहंकारी हमें मानवता की सेवा करने से नहीं रोक पाएंगे।
इलाहाबाद हाइकोर्ट की लखनऊ बेंच से लल्लू को मिली थी जमानत
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच से बीते मंगलवार को जमानत मिल गई थी। लल्लू को लखनऊ पुलिस ने 21 मई को आगरा से गिरफ्तार किया था। तब से वह जेल में बंद थे। जमानत मिलने के बाद अब वह बुधवार शाम को जेल से बाहर निकले थे। लल्लू ने फतेहपुर सीकरी और आगरा में महामारी के दौरान धरना-प्रदर्शन किया था। सरकार ने कांग्रेस की एक हजार बस की सूची में गड़बड़ी बताकर इन्हें लेने से मना कर दिया था। बस सूची के मामले में प्रियंका गांधी के निजी सचिव संदीप सिंह पर हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज किया गया था।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company