Responsive Ad Slot

देश

national

यूपी: राज्य में संक्रमण के 15,832 केस, 24 घंटे में रिकॉर्ड 630 मरीज मिले, 23 की मौत

Friday, June 19, 2020

/ by Editor
लखनऊ
उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में तेजी से उछाल आ रहा है। यहां एक दिन में गुरुवार को रिकॉर्ड 630 नए संक्रमित केस सामने आए। इसके बाद अब राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 15832 हो चुकी है। 23 लोगों की मौत हुई। वहीं, मरने वालों का आंकड़ा 488 पहुंच गया है। अब तक करीब 61 फीसदी मरीज (9,638) ठीक हो चुके हैं। अब कुल 5659 एक्टिव केस हैं। अब तक प्रदेश में 4,98,734 लोगों के सैंपल जांच के लिए लैब भेजे जा चुके हैं। सीएम योगी ने 11 जिलों के नोडल अधिकारियों से सर्विलांस सिस्टम को मजबूत बनाने के साथ निर्देश दिया कि, लोगों को समझाएं कि कोरोना बीमारी है, कोई कलंक नहीं है। इसलिए सामने आएं और जांच कराएं। 
अब 2500 से ज्यादा रूपए नहीं ले सकेंगे निजी लैब
उत्तर प्रदेश में निजी लैब अब कोरोना की जांच के लिए 2500 रुपए से ज्यादा नहीं ले सकेंगे। शासन ने कोरोना जांच की नई दरें लागू कर दी हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से निजी लैब में भेजे गए सैंपल के 2000 रुपए का भुगतान होगा। अगर कोई लैब इससे अधिक शुल्क वसूलता है तो उसके खिलाफ महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई होगी। इससे पहले अप्रैल माह में भी शासन ने ऐसा ही आदेश जारी किया गया था। लेकिन इसके बाद निजी लैब ने सैंपल लेना बंद कर दिया था। तब विभाग ने साफ किया था कि, कम फीस का आदेश सिर्फ विभाग की ओर से भेजे जाने वाले सैंपलों के लिए था। लेकिन अब नए आदेश में स्पष्ट किया गया है कि, यदि कोई निजी लैब में जांच करवाता है तो उससे 25 सौ रुपए से ज्यादा नहीं वसूल पाएंगे। 
24 घंटे में 630 नए केस, 399 डिस्चार्ज हुए
बीते 24 घंटे में प्रदेश में रिकॉर्ड मरीज दर्ज किए गए हैं। गुरुवार को कुल 630 नए केस मिले हैं, जो अब तक का सर्वाधिक आंकड़ा है। वहीं इससे पहले बीते बुधवार को 591 रोगी मिले थे। 23 की मौत हुई। मृतकों में आगरा में चार, मेरठ व गाजियाबाद में तीन-तीन, लखनऊ, कानपुर व इटावा में दो-दो और फिरोजाबाद, वाराणसी, बुलंदशहर, प्रयागराज, गोंडा, बरेली व झांसी का एक-एक व्यक्ति शामिल है। जिसे मिलाकर अब मरने वालों की संख्या 488 हो चुकी है। अब तक राज्य में 15832 मरीज मिल चुके हैं। कोरोना से कुल 399 मरीज ठीक भी हुए। इसी के साथ ठीक होने वाले मरीजों की संख्या 9638 हो गई है। 
इन जिलों में बढ़े कोरोना के केस
कानपुर में 54, नोएडा में 47, बुलंदशहर में 45, गाजियाबाद, हापुड़ में 32-32, मेरठ में 28, लखनऊ में 27, मथुरा में 26, हाथरस में 23, आगरा में 21, सहारनपुर, बागपत में 20-20, गाजीपुर में 19, फिरोजाबाद में 17, मुरादाबाद में 16, बस्ती में 15, मैनपुरी में 14, गोरखपुर, महाराजगंज में 12-12, कन्नौज में 11, अयोध्या में 10, अमेठी में 9, जालौन में 8, इटावा, बाराबंकी में 7-7, प्रयागराज, मुजफ्फरनगर, देवरिया, झांसी, शामली में 6-6, अलीगढ़, उन्नाव में 5-5, बलिया में 4, वाराणसी, संतकबीरनगर, सुल्तानपुर, गोंडा, अंबेडकरनगर, मऊ, शाहजहांपुर, कुशीनगर, कौशांबी में 3-3, सिद्धार्थनगर, संभल, पीलीभीत, भदोही, एटा, कासगंज में 2-2, बिजनौर, रायबरेली, सीतापुर, बलरामपुर, बांदा, कानपुर देहात, लखीमपुर खीरी, हरदोई, महोबा, हमीरपुर में एक-एक रोगी मिले। 
सीएम बोले- कोरोना कलंक नहीं, सामने आकर जांच कराएं
प्रदेश में सबसे अधिक केस 11 जिलों- आगरा, मेरठ, कानपुर नगर, अलीगढ़, गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, बुलंदशहर, झांसी और बस्ती से सामने आ रहे हैं। यहां एक शीर्ष अधिकारी एक विशेषज्ञ की बतौर नोडल अधिकारी तैनाती की गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार की शाम नोडल अधिकारियों से बात की और उनके प्रयासों पर संतोष जताया। सीएम ने नोडल अधिकारियों से सर्विलांस सिस्टम मजबूत करते हुए कहा कि, लोगों को समझाएं कि कोरोना बीमारी है, कोई कलंक नहीं है। जिस किसी को भी संक्रमण का संदेह हो, वह सामने आकर जांच करवाए। 
सबसे ज्यादा इन जिलों से आए केस- 
शहरपॉजिटिवकुल उपचारितमौत
आगरा111488776
मेरठ76045169
अलीगढ़31115920
गौतमबुद्धनगर120358714
गाजियाबाद74441334
मुरादाबाद34525315
फिरोजाबाद42730420
बुलंदशहर44716417
झांसी884311
बस्ती30320312
कानपुर नगर82648029

जांच में 160 गुना बढ़ोत्तरी, पूल टेस्टिंग करने वाला यूपी देश का पहला राज्य
मार्च माह में आगरा के जूता कारोबारी भाई कोरोना संक्रमित पाए गए थे। तब कोरोना का यह पहला हमला था। इसके बाद सरकार ने कोरोना की जांच शुरू की, तब हर दिन 100 सैंपल जांचने की क्षमता थी। हालांकि, इसके बाद लगातार टेस्टिंग क्षमता को बढ़ाने के प्रयास किए गए। नतीजा बीते 24 घंटे में 16546 सैंपल की जांच हुई। यह कोरोना टेस्टिंग में 160 गुना बढ़ोत्तरी है। पूल टेस्टिंग करने वाला यूपी देश का पहला राज्य भी बना। अब तक प्रदेश के सभी जिलों में ट्रू-नैट मशीन लग चुकी है। 23 सरकारी लैब व 11 प्राइवेट लैब हैं। इस तरह अब तक प्रदेश में 34 लैब कोरोना की जांच कर रही हैं। जून के अंत तक प्रतिदिन 20 हजार सैंपल जांचने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अगर टेस्ट ज्यादा होंगे तो कोरोना संक्रमित भी सामने आएंगे। इसके लिए प्रदेश में अभी कोविड-19 अस्पतालों में 100236 बेड की व्यवस्था है। इसे जल्द डेढ़ लाख किया जाएगा।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company