Responsive Ad Slot

देश

national

ब्रिटिश वैज्ञानिकों का बड़ा दावा बोले-मिल गई कोरोना की दवा ,35 फीसदी मरीज हुए ठीक

Tuesday, June 16, 2020

/ by Editor
लंदन
कोरोना वायरस की दवा पर रिसर्च कर रहे ब्रिटिश वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि उन्हें एक ऐसी दवा मिली है जिससे इस खतरनाक वायरस के संक्रमण से मरीजों को बचाया जा सकता है। वैज्ञानिकों ने कहा कि डेक्सामेथासोन नामक स्टेराइड के इस्तेमाल से गंभीर रूप से बीमार मरीजों की मृत्यु दर एक तिहाई तक घट गयी। उन्होंने यह भी बताया कि जल्द ही इस दवा को लेकर एक रिसर्च पेपर भी प्रकाशित किया जाएगा।

डेक्सामेथासोन से 35 फीसदी घटी मृत्युदर
रिसर्च के अनुसार, इस दवा को 2104 मरीजों को दिया गया और उनकी तुलना साधारण तरीकों से इलाज किए जा रहे 4321 दूसरे मरीजों से की गई। दवा के इस्तेमाल के बाद वेंटीलेटर के साथ उपचार करा रहे मरीजों की मृत्यु दर 35 फीसदी तक घट गई। वहीं, जिन मरीजों को ऑक्सीजन दिया जा रहा था उनमें भी मृत्यु दर 20 प्रतिशत कम हो गयी।

डेक्सामेथासोन दवा महंगी भी नहीं
ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के रिसर्चर पीटर होर्बी ने कहा कि ये काफी उत्साहजनक नतीजे हैं।मृत्यु दर कम करने में और ऑक्सीजन की मदद वाले मरीजों में साफ तौर पर इसका फायदा हुआ। इसलिए ऐसे मरीजों में डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल होना चाहिए। डेक्सामेथासोन दवा महंगी भी नहीं है और दुनियाभर में जान बचाने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है।

कोरोना में HCQ दवा का फायदा नहीं
हाल में इसी अध्ययन में कहा गया था कि मलेरिया के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन कोरोना वायरस के उपचार में उपयोगी नहीं है। अध्ययन के तहत इंग्लैंड, स्कॉटलैंड, वेल्स और उत्तरी आयरलैंड में 11,000 से ज्यादा मरीजों को शामिल किया गया था।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company