Responsive Ad Slot

देश

national

डोनाल्ड ट्रंप का दावा- अमेरिका में कोरोना वायरस वैक्सीन के 2 मिलियन डोज तैयार

Friday, June 5, 2020

/ by Editor
वॉशिंगटन
कोरोना वायरस वैक्सीन के निर्माण को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बड़ा दावा किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर गुरुवार को बड़ी बैठक हुई। ट्रंप ने दावा किया कि अमेरिका में इस वैक्सीन के 2 मिलियन से भी ज्यादा डोज तैयार हैं। जैसे ही सुरक्षा जांच में ये पास हो जाते हैं इन्हें ट्रांसपोटेशन शुरू कर दिया जाएगा।

ट्रंप बोले- 2 मिलियन डोज तैयार
ट्रंप ने कहा कि हमने कल कोरोना वायरस वैक्सीन पर एक बैठक की थी, हम अविश्वसनीय रूप से अच्छा कर रहे हैं। हमें कुछ बहुत ही सकारात्मक आश्चर्य देखने को मिल सकते हैं। वैक्सीन को लेकर बहुत प्रगति हो रही है। उन्होंने दावा किया कि अगर ये वैक्सीन सुरक्षा जांच को पूरा कर लेते हैं तो हमारे पास दो मिलियन से ज्यादा डोज तैयार हैं। वास्तव में, हम इसके परिवहन और लॉजिस्टिक के लिए तैयार हैं।

हम चीन के साथ भी कर रहे हैं काम
डोनाल्ड ट्रंप ने यह भी कहा कि कोरोना वायरस के कारण दुनिया के 186 देश प्रभावित हैं। कोरोना वायरस वैक्सीन को लेकर हम पूरी दुनिया के साथ काम कर रहे हैं। हम चीन के साथ भी काम कर रहे हैं, लेकिन जो हुआ, वह नहीं होना चाहिए था।

बता दें कि डोनाल्ड ट्रंप ने इससे पहले कहा था कि कोविड-19 के लिए टीका इस साल के अंत तक उपलब्ध हो जाएगा। ट्रंप ने यह भी कहा था कि अमेरिकी सरकार रेमेडेसिवीर दवा के पीछे 'अपनी पूरी ताकत' लगा रही है। इस दवा ने कोरोना वायरस के कारण होने वाली बीमारी के इलाज में अच्छे नतीजे दिए हैं।

फॉक्स न्यूज के साथ बातचीत में किया था दावा
ट्रंप ने फॉक्स न्यूज चैनल द्वारा प्रायोजित टीवी पर प्रसारित टाउनहॉल के दौरान रविवार रात यह टिप्पणी की। ट्रंप लिंकन मेमोरियल के भीतर मौजूद थे और उन्होंने फॉक्स के दो एंकर के साथ ही फॉक्स के सोशल मीडिया मंचों पर लोगों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के उत्तर दिए। ट्रंप ने कोविड-19 से स्वस्थ हुए नेब्रास्का के एक व्यक्ति के सवाल का यह कहकर जवाब दिया, 'मेरे विचार में इस साल के अंत तक हमें टीका प्राप्त हो जाएगा।'

कोविड-19 की दवा का क्लीनिकल ट्रायल जारी
अमेरिका में कोरोनावायरस के मरीजों के इलाज के लिए दवा का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है और इसके तीसरे चरण में पॉजिटिव रिजल्ट आए हैं। रेम्डेसिविर नाम की यह दवा कंपनी गिलीड साइंसेज ने बनाई है और डॉक्टरों की एक टीम इसके क्लीनिकल ट्रायल पर नजर रख रही है। इस टीम में भारतीय मूल की एक फिजिशियन भी शामिल हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company