Responsive Ad Slot

देश

national

गेहूं -बाजरा के फंगस का पता लगाना पीसीआर तकनीक से संभव - डॉ सुधीर मल्होत्रा

Sunday, June 21, 2020

/ by Editor

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)
अमेठी। 

अमेठी में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय वेबपोजियम के दो दिवसीय समापन सत्र को संबोधित करते हुए नीलाम्बर पीताम्बर विश्वविद्यालय मोदीनगर झारखंड के कुलपति प्रो रामलखन सिंह ने कहा कि वैज्ञानिक अनुसंधान समाज को गति प्रदान करता है ,अनुसंधानकर्ता को अपने ज्ञान कौशल में निरंतर वृद्धि करना चाहिए। अमेरिका के ज्ञानेन्द्र सिंह ने कहा आज लोगों के जीवन शैली बदलने से भ्रूण के विकास का क्रम निरंतर बिगड़ता जा रहा है । लखनऊ विश्वविद्यालय के डॉक्टर सुधीर मल्होत्रा ने कहा कि भारत एक कृषि प्रधान देश है, पीसीआर तकनीकी से गेहूं एंव बाजरा में लगने वाले फंगस का पता लगाया जा सकता है। 

अमेरिका की डाॅ  विजेता सिंह ने बताया कि कापीराइट का उपयोग कैसे करना चाहिए। सिंगापुर के प्रोफ़ेसर आर मन्जुनाथन किनी ने बताया कि हम सर्प के जहर के प्रभाव को कैसे कम कर सकते हैं । अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए  महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ त्रिवेणी सिंह ने कहा कि प्रतिभागियों को दो दिन में वैज्ञानिक अनुसंधान के नये नवाचार को जानने का अवसर मिला।

अतिथियों का स्वागत अंग्रेजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ ओमशिव पाण्डेय ने किया ।वेबपोजियम के  सारांश को आयोजन सचिव डाॅ अनुप कुमार सिंह ने प्रस्तुत किया । वेबपोजियम में डाॅ धनन्जय सिंह, डाॅ शिखा शुक्ला,डाॅ मानवेन्द्र प्रताप सिंह ,डाॅ वीरेन्द्र बहादुर सिंह,डाॅ अरविंद कुमार सिंह  आदि लोग उपस्थित थे। आर आर पी जी कालेज अमेठी में ।वेबपोजियम का संचालन डाॅ ओमप्रकाश त्रिपाठी ने किया तथा तकनीकी सहयोग राजेन्द्र मौर्य ने दिया ।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company