Responsive Ad Slot

देश

national

भारत से उलझा चीन तो अमेरिका ने प्रशांत महासागर में उतारे तीन न्युक्लियर युद्धक पोत

Thursday, June 18, 2020

/ by Editor
वॉशिंगटन 
अमेरिका ने प्रशांत महासागर में अपने तीन युद्धपोतों की तैनाती कर दी है। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने इस पर कहा है कि इससे दक्षिण चीन सागर में हमारे सैनिकों को खतरा है। चीनी नौसेना विशेषज्ञ ली जीई के हवाले से कहा गया है कि ऐसा करके अमेरिका प्रशांत क्षेत्र समेत पूरी दुनिया के सामने खुद को सबसे ताकतवार नौसेना शक्ति के तौर पर दिखाना चाहता है। वे इतने करीब हैं कि कभी भी दक्षिण चीन सागर में घुस सकते हैं।
चीनी नौसेना विशेषज्ञ के मुताबिक, प्रशांत महासागर में अमेरिकी युद्धपोतों की मौजूदगी से स्प्रेटली और पैरासेल आइलैंड्स पर तैनात चीनी सैनिकों को खतरा है। इन आइलैंड्स के पास से गुजरने वाले जहाजों को भी खतरा हो सकता है। हालांकि चीन इस क्षेत्र में अपने हितों से पीछे नहीं हटेगा।
अमेरिका का दावा- पोतों की तैनाती के राजनीतिक कारण नहीं
अमेरिका ने किसी राजनीतिक या वैश्विक घटना की वजह से अपने वॉरशिप्स तैनात करने से इनकार किया है। अमेरिकी नौसेना की प्रवक्ता कमांडर रिएन मॉमसेन ने कहा कि अमेरिकी नौसेना प्रशांत क्षेत्र में हर दिन एक्टिव रहती है। यह इस क्षेत्र में अपने साथियों और सहयोगियों की मदद के लिए मौजूद होती है। पिछले 75 साल से अमेरिकी पोत और जहाज दक्षिण चीन सागर, पूर्व चीन सागर और फिलीपिन सागर के आसपास नियमित गश्त करती है। यह प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ाने और शांति कायम करने के हमारे कई तरीकों में से एक है।
दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच रहा है तनाव
दक्षिण चीन सागर में अमेरिका और चीन के बीच पिछले कुछ सालों में कई बार तनाव की स्थिति पैदा हुई है। इस साल 6 अप्रैल को चीन और अमेरिका के पोत 100 मीटर की दूरी पर आमने सामने आए थे। अक्टूबर 2018 में भी एक चीनी पोत अमेरिकी वॉरशिप के 41 मीटर करीब पहुंच गया था। जून 2018 में अमेरिका के विमानों ने दक्षिण चीन सागर में उड़ान भरी थी, इस पर चीन ने आपत्ति जताई थी। दक्षिण चीन सागर एक विवादित समुद्री क्षेत्र है। चीन, वियतनाम, फिलिपींस और ताईवान इसके अपना हिस्सा होने का दावा करते हैं। फिलहाल यह चीन के कब्जे में है।
अमेरिका ने अपने कौन से तीन से युद्धपोत तैनात किए
अमेरिका ने थियोडोर रूजवेल्ट, रोनाल्ड रीगन और निमिट्ज वॉरशिप को फिलहाल दक्षिण चीन सागर में तैनात किया है। अमेरिका नौसेना के मुताबिक, रीगन और रूजवेल्ट पश्चिमी प्रशांत महासागर में मौजूद है। वहीं निमिट्ज पूर्व चीन सागर में गश्त पर है। तीनों वॉरशिप 1 लाख टन वजनी है। इन पर 60 लड़ाकू विमान तैनात होते हैं। 2017 में उत्तर कोरिया से विवाद के पहली बार है जब अमेरिका ने अपने इतने जहाजों को इस क्षेत्र में तैनात किया है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company