Responsive Ad Slot

देश

national

फ़ोर्स वन की टक्कर को 'सुपरजेट' ट्रम्प की तर्ज पर मोदी का विमान

Thursday, June 4, 2020

/ by Editor
संजय सक्सेना 
नई दिल्ली

जल्दी ही  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हवाई सुरक्षा जमीनी सुरक्षा अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की तरह अभेद्य हो जाएगी। भारत के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति के लिए दो बेहद खास विमान बोइंग-777-300 सितंबर के अंत तक देश में आ सकते हैं। ये विमान मिसाइल अटैक से भी सुरक्षित होंगे। पहले विमान की डिलीवरी अगस्त में हो सकती है जबकि दूसरा सितंबर में मिलेगा।

सितंबर तक बेडे़ में हो जाएगा शामिल बोइंग-777 के जोड़े का पहला विमान अगस्त के आखिर तक अमेरिका से भारत पहुंचेगा, एक महीने बाद दूसरा विमान यहां पहुंचेगा। ये विमान 'सेल्फ प्रोटेक्शन सूट्स' (एसपीएस) से लैस होंगे। इसमें इंफ्रारेड और इलेक्ट्रॉनिक जंगी तकनीक शामिल है।  विमानों में मिसाइलों को दूर करने में सक्षम  चेतावनी प्रणाली होगी। यह दुश्मन की रडार प्रणाली को नाकाम करने में सक्षम तकनीक से भी लैस होंगे। कुल मिलाकर इन विमानों में अमेरिका के राष्ट्रपति के 'एयरफोर्स वन' जैसे  सुरक्षा उपाय होंगे।

विभागीय अधिकारियों के अनुसार एयर इंडिया ने वीवीआईपी यात्रा के लिए नए बोइंग 777-300 ईआर विमान की एक जोड़ी को नवीनीकृत करने के लिए अमेरिका के डलास स्थित बोइंग सुविधा केंद्र में भेजा था। वहां इनमें मिसाइल रक्षा प्रणाली को लगाया जा रहा है।  इसमें लगभग 1400 करोड़ रुपये (190 मिलियन डॉलर) का खर्चा आ रहा है। ओपन सोर्स वेबसाइट्स के एयरक्राफ्ट रिकॉर्ड के अनुसार दोनों विमान तीन साल से कम पुराने थे और इनका इस्तेमाल कम ही होता था। विमानों को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उप-राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यात्राओं के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

'सेंटर फॉर एयर पॉवर स्टडीज' (सीएपीएस) के प्रबंध निदेशक एयर मार्शल केके नौहवार (सेवानिवृत्त) ने बताया कि वीवीआईपी लोगों पर खतरे की आशंका हमेशा बनी रहती है। अपने शीर्ष नेतृत्व की रक्षा के लिए एक राष्ट्र को जो भी उपाय करने की आवश्यकता है, वह की जानी चाहिए। अभी प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और उप-राष्ट्रपति एयर इंडिया के बोइंग बी 747 विमानों का प्रयोग करते हैं। ये करीब दो दशक से अधिक पुराने हैं। राष्ट्रपति को ले जाने वाला विमान तो करीब 26 साल से सेवा में है। नए विमानों में ऑफिस की जगह, बैठक कक्ष और संचार प्रणालियां होंगी। ईंधन भरने के बाद इन विमानों से भारत और अमेरिका के बीच बिना रुके उड़ान भरी जा सकती है। 

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company