Responsive Ad Slot

देश

national

बिजली कनेक्शन में घूस-खोरी बढ़ी लोग परेशान

Friday, July 10, 2020

/ by Editor
हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)
अमेठी। 
विद्युत विभाग में कर्माशियल और घरेलू कनेक्शन में घूस-खोरी का बोलबाला है। इस विभाग में कनेक्शन लेने वाले को अभियंता अधिकारी और बड़े बाबू दिन दहाडे लूट रहे है और मीटर लगाने में बडे पैमाने पर लूट का खेल जारी है। इस का खुलासा कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं में शोषण के बाद इस बात का खुलासा करते है बिना घूस के कनेक्शन मिल पाना आम आदमी बस की बात नही रही। जिलें भर की भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने वाली टीम की इस खेल में संलिप्ता से नकारा नही जा सकता। 
अमेठी में ग्राम पंचायत नुवावाॅ के उपभोक्ता जेपी मिश्रा ने कार्मशियल कनेक्शन के लिए आवेदन किया और आवेदन पाने के बाद विद्युत विभाग के अवरअभियंता अतुल सोनी पर आरोप है कि उन्होंने तीन हजार रुपये लेने के बाद सर्वेंक्षण करने की बात कही। अभियंता को जब तक तीन हजार रुपयें नही मिले तब तक विद्युत कनेक्शन के नाम पर हामी भरने को तैयार नही हुए। नजराना पाने के बाद अवरअभियंता श्री सोनी ने विद्युत कनेक्शन का सर्वेक्षण किया। सर्वेक्षण होने के बाद उपखंडीय अधिशासी अधिकारी विद्युत अमेठी कार्यालय के अरुण कुमार को पत्रावली अवर अभियंता ने सौप दी। पत्रावली कार्यालय में गुम हो गयी इसके तालाशी और नई फाइल के नाम पर विभाग के लिपिक बलवंत सिंह पर आरोप है उन्होंने 1500 रुपयें  पत्रावली पुनः तैयार करवाने के नाम पर ली। तब जाकर उपखंडीय अधिशासी अधिकारी अरुण कुमार वर्मा ने पत्रावली पर अपना हस्ताक्षर बैठाया। 
विद्युत कनेक्शन की पत्रावली एसडीओ आफिस से अधिशासी अभियंता कार्यालय अमेठी (गौरीगंज) विद्युत विभाग में पहुंचा दी। अब तक 4500 रुपयें की उपभोक्ता से वसूली जा चुकी है। अब पत्रावली कब स्वीकृति होगी इसके नाम पर विद्युत विभाग के अधिकारी कर्मचारी चुप्पी साधे हुए है और अधिशासी अभियंता कार्यालय में पत्रावली कनेक्शन के लिए स्टीमेट की स्वीकृति तथा मार्जिंग मनी कब जमा होगी और विद्युत कनेक्शन के टासफार्मर खंभे, तार, स्टेवायर, और सेफ्टीवायर लेने में उपभोक्ता को  कितना पापड़ बेलना पडेगा। 

घरेलू कनेक्शन में बिना घूस खोरी के सर्वे करने को विद्युत विभाग के कर्मचारी तैयार नही है। पांच रुपयें सर्वेक्षण के नाम पर और कनेक्शन के लिए जमानत राशि की रसीद कटवाने में पांच रुपयें अतिरिक्त उपभोक्ताओं को देना पड़ता है और मीटर लगाने के नाम पर निजी कंपनियो के कर्मचारी एक हजार से दो हजार रुपयें धडल्ले से वसूली कर रहे है। इस विभाग में उपभोक्ताअेां के जाने के बाद इसके नखरे देख सुनने के बाद लोगों के रोंगटे खडे़ हो जाते है।
अधीक्षण अभियंता अमेठी ने बताया कि विद्युत विभाग जिन उपभोक्ताओं को कर्माशियल और घरेलू कनेक्शन उपलब्ध कराता है ऐसे उपभोक्ता को विद्युत विभाग सर्वेक्षण की रसीद और विद्युत कनेक्शन की जमानत राशि की रसीद देता है। रसीद के अलावा कोई रिश्वत मांगता है तो इसकी शिकायत विद्युत विभाग के विजलेंस टीम को दे अथवा मेरे कार्यालय में लिखित आवेदन शपथपत्र के साथ दें ताकि दोषी लोगो के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जा सके। रही बात उपभोक्ताओें से रिश्वत लेने के लिए लोग अपने आप काम की जल्दबाजी में पैसे तो दे देते है। लेकिन विभागीय कार्यवाही में दिक्कत आने के बाद हल्ला-गुल्ला मचाते है। जब विद्युत सामग्री उपलब्ध रहेगी तभी मुहैया करवाई जायेगी।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company