Responsive Ad Slot

देश

national

बिहार सरकार का बड़ा फैसला, 16 जुलाई से 31 जुलाई तक पूरे प्रदेश में कंप्लीट लॉकडाउन

Tuesday, July 14, 2020

/ by Editor
पटना
बिहार में कोरोना के बिगड़ते हालात के मद्देनजर नीतीश सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। सरकार ने पूरे प्रदेश में फिर से 15 दिनों के लिए पूर्ण लॉकडाउनका ऐलान कर दिया है। इस बार कंप्लीट लॉकडाउन की अवधि 16 से 31 जुलाई तक की होगी। राज्य के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी  ने इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नगर निकाय, जिला मुख्यालय, अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालय 15 दिनों के लिए लॉकडाउन रहेगा।
गाइलाइंस किए जा रहे हैं तैयार
डेप्युटी सीएम ने बताया कि 16 से 31 जुलाई तक के लॉकडाउन के लिए नई गाइडलाइन तैयार की जा रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी का ना कोई दवा है, ना टीका। इससे बचाव का सिर्फ एक ही माध्यम है, हम सभी अपने चेहरे पर मास्क, तौलिया या रुमाल लगाकर लगाना सुनिश्चित करें। तभी हम कोरोना से अपना बचाव कर सकते हैं और इसे हरा सकते हैं।

बीजेपी के 4 बड़े नेता के साथ कई कार्यकर्ता कोरोना संक्रमित
वैश्विक महामारी कोरोना का दायरा और भी बढ़ता जा रहा है। सरकार के लाख कोशिशों के बावजूद लोग दिशा निर्देश मानने को तैयार नहीं दिखते। अब पार्टी दफ्तरों में भी कोरोना संक्रमण का खौफ साफ तौर पर देखा जा सकता है। दरअसल सोमवार को बीजेपी के 75 लोगों का सैंपल लिया गया था, जिसमें से 25 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। बड़े नेताओं की बात करें तो इसमें प्रदेश संगठन के महामंत्री नागेंद्र नाथ, बीजेपी के प्रदेश महामंत्री देवेश कुमार, राधा मोहन शर्मा और राजेश वर्मा शामिल है।

राजनीतिक दल के कई नेता और सरकारी अधिकारी कोरोना के चपेट में
बता दें कि इसके पहले की भी बीजेपी के कई विधायक और बिहार विधान परिषद के सभापति कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इसके पहले आरजेडी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश प्रसाद सिंह भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे, तो मुख्यमंत्री आवास तक कोरोना की दहशत दिखाई दी थी। चूंकि अक्टूबर-नवंबर में बिहार विधानसभा चुनाव प्रस्तावित है ऐसे में राजनीतिक दलों की गतिविधियां भी बढ़ी हुई है।

हांलाकि कोरोना संक्रमण काल में ज्यादातर राजनीतिक पार्टियां अपनी बैठक, वर्चुअल माध्यम से कर रही हैं, लेकिन पार्टी कार्यालय में कार्यकर्ताओं का जमावड़ा अभी भी लग रहा है। ऐसे में राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ कार्यकर्ताओ में भी कोरोना संक्रमण का प्रकोप देखने को मिल रहा है। राजनीतिक दल के नेताओं के अलावा सरकारी अधिकारियों में भी कोरोना संक्रमण के लक्षण मिलने लगे हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बिहार के अपर मुख्य सचिव भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं, फिलहाल वह होम क्वारंटीन में बताये जा रहे हैं। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि होनी बाकी है, लेकिन इनके अलावा कई सरकारी अधिकारी और पुलिसकर्मियों के लगातार कोरोना पॉजिटिव होने के मामले सामने आ चुके हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company