Responsive Ad Slot

देश

national

कुशीनगर :शौचालय न होने से नाराज एक महीने में 16 बहुएं ससुराल छोड़कर मायके गईं

Thursday, July 16, 2020

/ by Editor
कुशीनगर
स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव हो या शहर- हर जगह उत्तर प्रदेश सरकार ने शौचालय बनवाने का दावा किया है। लेकिन हकीकत इससे परे है। ताजा मामला कुशीनगर जिले का है। यहां पडरौना ब्लॉक के जगदीपुर गांव के भरपटिया टोला की 16 बहुएं एक माह के अंदर शौचालय न होने से नाराज होकर ससुराल छोड़कर मायके चली गईं। उनका कहना है कि जब तक शौचालय नहीं बन जाएगा, वे ससुराल में कदम नहीं रखेंगी।
इन बहुओं को बारिश के मौसम में भी शौच के लिए बाहर जाना पड़ता था। ऐसे में परेशानी हुई तो पहले ससुरालवालों को बताया। बात नहीं बनी तो मायके चली गईं। मामले की जानकारी पाकर पंचायत राज अधिकारी ने गांव का दौरा किया और शौचालय अब तक क्यों नहीं बना? इसकी जांच शुरू कर दी।  
विवाह से पहले रखी थी शर्त, लेकिन नहीं हुई पूरी
महिलाओं के फैसले पर न सिर्फ परिवारवाले, बल्कि गांववाले भी हैरान हैं। परिवारवालों के समझाने के बाद भी महिलाओं ने फैसला नहीं बदला और ससुराल छोड़ दिया। गांव की बहुओं ने अपनी शादी से पहले ही यह शर्त रखी थी कि ससुराल में शौचालय बनने के बाद ही वहां जाएंगी। ससुराल के लोगों ने वादा भी किया था कि शादी के तुरंत बाद शौचालय बनवा लेंगे। लेकिन कई माह बीतने के बाद भी शौचालय नहीं बनने से उन्हें इस बरसात के मौसम में शौच के लिए बाहर जाना पड़ता था। इन्‍हीं दिक्कतों के कारण महिलाओं ने अपना ससुराल छोड़ने का फैसला कर लिया और अपने मायके चली गईं। इन सभी की दो साल के भीतर शादी हुई है। 
जिम्मेदारों ने यह कहा-
ग्राम प्रधान राम नरेश यादव ने कहा कि सूची में नाम न होने के कारण कुछ परिवारों का शौचालय नहीं बना है। कुछ महिलाएं अपने मायके गई हैं। जिला पंचायत राज अधिकारी आरके द्विवेदी ने गांव पहुंचकर जिम्मेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है और गांव में समुदायिक शौचालय का निर्माण करने का आश्वासन दिया। कहा कि शौचालय न होने की वजह से बहुओं का ससुराल छोड़कर मायके जाना ठीक नहीं है। जिनका नाम सूची में नहीं है, उनके लिए गांव में सामुदायिक शौचालय बनेगा।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company