Responsive Ad Slot

देश

national

राम से बड़ा राम का नाम - आशुतोष राना

Sunday, August 16, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

आशुतोष राना ( प्रसिद्ध अभिनेता व लेखक)

आज जब नेपाल ने कहा कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम का जन्म नेपाल में हुआ था, श्रीराम उनकी  धरोहर, उनके युगपुरुष हैं, अयोध्या नाम का एक स्थान नेपाल में है .. तो यह सुनकर मन आनंद से झूम गया क्योंकि राम का अर्थ ही होता है रोम-रोम में प्रकाशित होने वाली चेतना, इस नाते नेपाल ही नहीं, इस सृष्टि में विचरण करने वाली प्रत्येक देह ही अयोध्या है। 

श्रीराम का व्यक्तित्व, उनका जीवन दर्शन है ही इतना अनुपम कि सम्पूर्ण विश्व इन्हें अपनाना चाहता है। संसार में ऐसा कौन है जिसे श्रीराम जैसा पुत्र, श्रीराम जैसा मित्र, श्रीराम जैसा भाई, श्रीराम जैसे पिता, मन कर्म वचन से एक पत्नी व्रत का पालन करने वाला श्रीराम जैसा पति, श्रीराम जैसे राजा, यहाँ तक कि श्रीराम जैसा मर्यादित शत्रु नहीं चाहिए ? 

नेपाल जो कभी पुण्यभूमि भारत का अभिन्न अंग था आज भले ही परिस्थितियों के चलते वो भारत से भिन्न हो गया है किंतु नेपाल के कंठ से उठने वाले श्रीराम रूपी स्वर ने यह सिद्ध कर दिया कि अलग भूखंड में रहने के बाद भी नेपाल के भावखंड में आज भी भारत साँसें ले रहा है। वह दिन दूर नहीं जब नेपाल ही नहीं बल्कि सम्पूर्ण विश्व राम का स्मरण करते हुए अपने यहाँ श्रीराम की शासन व्यवस्था रामराज्य को स्थापित करेगा क्योंकि रामराज्य में दैहिक दैविक और भौतिक ताप नहीं व्याप्ते, सभी मनुष्य एक दूसरे से परस्पर प्रेम करते हैं और वेदों में बताई हुई नीति के अनुसार मर्यादा पूर्वक अपने-अपने धर्म का पालन करते हैं। 

धर्म के चारों चरणों से जगत्‌ परिपूर्ण हो जाता है, स्वप्न में भी कहीं पाप नहीं होता, स्त्री-पुरुष सभी रामभक्ति में रत होकर प्रकृति के रोम रोम में प्रकाशित होने वाली चेतना के प्रति आदर और आस्था के भाव से भर जाते हैं और सभी परमगति (मोक्ष) को प्राप्त करने के अधिकारी होते हैं। 

छोटी अवस्था में किसी की मृत्यु नहीं होती, किसी को पीड़ा नहीं होती है, सभी के शरीर सुंदर, निरोगी और वज्र के जैसे होते हैं, न ही कोई दीन-दुखी और दरिद्र होता है। 

सभी अहंकार रहित, धर्मपरायण और पुण्यात्मा होते हैं। स्त्री-पुरुष चतुर, गुणवान्‌, गुणों का आदर करने वाले पण्डित और ज्ञानी होते हैं, सभी कृतज्ञता से भरे, दूसरे का उपकार मानने वाले होते हैं, किसी में भी कपट-चतुराई या धूर्तता नहीं होती है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company