Responsive Ad Slot

देश

national

सकारात्मक सामाजिक बदलाव के लिए उदाहरण बन रहा युवान फाउंडेशन

Monday, August 31, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

दिल्ली।

कोरोना महामारी में जहां आम जनमानस को संकट का सामना करना पड़ रहा है, वही युवान फाउंडेशन ने अपने कर्म निष्ठा से सामाजिक कार्य में नए पद चिन्ह स्थापित किये है , युवान फाउंडेशन के संस्थापक आयुष मिश्रा ने बताया कि आने वाले कुछ दिनों में सर्वे के मुताबिक पाए गए गरीबी रेखा से अत्यंत नीचे आने वाले बच्चों को कॉपी किताब स्टेशनरी आइटम मास्क और 200 परिवारों को राशन वितरण का डिस्ट्रीब्यूशन ड्राइव चलाने का फैसला युवान फाउंडेशन की प्रबंधन टीम द्वारा लिया गया है। सरकार के करोना महामारी को नजरअंदाज करने वाले नजरिए को देखते हुए गैर सामाजिक संगठनों की जिम्मेदारियों का क्रियान्वयन काफी हद तक महत्वपूर्ण हो गया है जिसके लिए युवान फाउंडेशन जैसी संस्था कटिबद्ध और निष्ठावान है संस्था के महासचिव डॉक्टर विकास सरनालिया का मानना है करोना महामारी में प्रत्येक व्यक्ति को सामाजिक दायित्व का निर्वहन करना चाहिए आस-पास भी ध्यान देना चाहिए कि कोई भी व्यक्ति भूखा ना सो रहा हो , इस कठिन काल में सभी के लिए भोजन का प्रबंध हो यह जिम्मेदारी हम सभी की है। युवान फाउंडेशन झुग्गी में रह रहे गरीबी रेखा से अत्यंत नीचे वाले परिवार के लिए उमंग का पर्याय है । झुग्गी बच्चों की शिक्षा के लिए कटिबद्ध संस्था युवान फाउंडेशन के संस्थापक आयुष मिश्रा पिछले कई वर्षों से सामाजिक उत्थान और  शांति को लेकर कार्य कर रहे हैं उनका मानना है हम सभी को एक नागरिक के तौर पर सेवा भाव से राष्ट्र निर्माण में अपने आप को अर्पण करना चाहिए , जिनका कोई सुध लेने वाला नहीं है उनके बारे में सोच कर उनके जीवन की बेहतरी के लिए कार्य करना चाहिए । सामग्र सामाजिक निर्माण सभी नागरिकों का मूलभूत कर्तव्य भी है ।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company