Responsive Ad Slot

देश

national

सीएमएस संस्थापकों ने टीचरों द्वारा कराई जा रही ऑनलाइन क्लासेस की भूरी-भूरी प्रसंशा की

Wednesday, August 26, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

लखनऊ। 

सीएमएस संस्थापक डॉ जगदीश गाँधी एवं डॉ भारती गाँधी ने टीचरों द्वारा कोरोना काल में उनकी त्याग, तपस्या और परिश्रम की सराहना की है। डॉ.जगदीश गाँधी व डॉ. भारती गाँधी ने सीएमएस शिक्षकों द्वारा कराई जा रही ऑनलाइन क्लासेस की भूरी-भूरी प्रसन्शा की है। साथ ही समस्त टीचरों को शत-शत प्रणाम करते हुए कहा है कि "सीएमएस मैनेजमेंट अपने टीचरों पर गौरान्वित महसूस करता है जिस तरह से शिक्षकों ने दिन-रात मेहनत करके बच्चों को पढाया और लगातार ऑनलाइन क्लासेस के साथ-साथ सभी बच्चों को पढ़ाई में आ रही दिक्कतों का समाधान कर अतुलनीय कार्य किया है। सीएमएस शिक्षकों के इस कठोर परिश्रम को देखते हुए अध्यापकों की जितनी भी प्रसंशा की जाए वह कम होगी।"

सिटी मोन्टेसरी स्कूल के हेड, इंटरनेशनल रिलेशन्स शिशिर श्रीवास्तव ने बताया कि प्रातः ऑनलाइन प्रार्थना सभा में प्रधान-कार्यालय के सभी कार्य-कर्ताओं को संबोधित करते हुऐ, सीएमएस संस्थापिका डॉ भारती गांधी ने  समस्त टीचरो की प्रशंसा में कबीर दास के दोहे का उल्लेख करते हुए कहा कि अगर मैं इस पूरी धरती के बराबर बड़ा कागज बनाऊं और दुनियां के सभी वृक्षों की कलम बना लूँ और सातों समुद्रों के बराबर स्याही बना लूँ तो भी गुरु के गुणों को लिखना संभव नहीं है।' और साथ ही उन्होंने यह भी कहा की "अध्यापक ईश्वर-तुल्य पूजनीय होता है और हम सभी लोग उनके आगे नतमस्तक हैं।"

शिशिर श्रीवास्तव ने यह भी बताया कि सीएमएस शिक्षकों द्वारा चलाई जा रही ऑनलाइन क्लासेस से छात्रों का 30 प्रतिशत से भी अधिक कोर्स पूरा कराया जा चुका है और सभी सीएमएस अभिभावक इस बात से प्रसन्न हैं कि लॉकडाउन शुरू होते ही बिना समय नष्ट किये 24 मार्च से ही ऑनलाइन क्लासेस शुरू हो गयी थीं।

 शिशिर श्रीवास्तव ने बताया कि सभी अभिभावकों ने सीएमएस शिक्षकों के अतुलनीय प्रयासों की भूरी-भूरी प्रशंसा की जिसमें मुख्य हैं:  अमित सिंह, आईएएस, विशेष सचिव, माननीय मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश, राजन शुक्ला आईएएस, अपर मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश सरकार, सुशील कुमार पटेल, आईएएस,जिला मजिस्ट्रेट, मिर्जापुर, उत्तर प्रदेश, मंगला प्रसाद सिंह, आईएएस, लखनऊ विकास प्राधिकरण के सचिव एवं अमित गुप्ता, आईएएस, सचिव, चिकित्सा शिक्षा, उत्तर प्रदेश सरकार एवं कई अन्य गणमान्य अभिभावक भी शामिल हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company