Responsive Ad Slot

देश

national

5 एकड़ जमीन पर बाबर के नाम से मस्जिद नहीं बनाएगा सुन्नी वक्फ बोर्ड

Saturday, August 8, 2020

/ by Editor

अयोध्या

अयोध्या में राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह के साथ ही मंदिर निर्माण का काम शुरू हो गया है। इससे पहले सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को न्यायालय के आदेश पर मस्जिद के लिए 5 एकड़ जमीन पहले ही चिन्हित करके हस्तांतरित कर दी गई है। शुक्रवार को सुन्नी वक्फ बोर्ड की गठित ट्रस्ट इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन ने प्रेस नोट के माध्यम से साफ किया है कि अयोध्या में बाबर के नाम पर किसी भी मस्जिद या अस्पताल का निर्माण नहीं होगा। ट्रस्ट ने कहा है कि मिली पांच एकड़ की जमीन पर अस्पताल, रिसर्च सेंटर और पुस्तकालय बनाया जाएगा।

बयान में कहा गया है कि उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने इंडो इस्लामिक कल्चरल फाउंडेशन नामक एक ट्रस्ट का निर्माण किया है, जिसका उद्देश्य माननीय सुप्रीम कोर्ट से उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड को अयोध्या के धनीपुर में दी गई 5 एकड़ भूमि पर उपयोगी निर्माण कराना है।

अफवाहों का किया खंडन
सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मिली इस जमीन पर एक मस्जिद, एक सांस्कृतिक और शोध केंद्र एक अस्पताल, एक पुस्तकालय बनाया जाएगा। प्रेस नोट में यह भी कहा गया कि भिन्न-भिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर एक झूठी खबर फैलाई जा रही है कि उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने एक बाबरी अस्पताल बनाने का फैसला किया है और खलील खान उसके डायरेक्टर होंगे।

मुख्यालय से करीब 18 किमी दूरी
अयोध्या जनपद के सोहावल तहसील में जनपद मुख्यालय से करीब 18 किलोमीटर दूर लखनऊ-गोरखपुर राष्ट्रीय राजमार्ग से सटे थाना रौनाही के पीछे धन्नीपुर में जमीन मस्जिद के लिए दी गयी है। बता दें कि मस्जिद के लिए चिन्हित जमीन कृषि विभाग की है। 5 एकड़ भूमि जिस इलाके में दी गई है, वहां पर प्रसिद्ध शहजाद शाह की दरगाह है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company