Responsive Ad Slot

देश

national

UPPC का प्रबन्धन सन 2000 के खलनायको के सहारे निजीकरण की राह पर

Tuesday, September 1, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

वाराणसी। 

देश कोविड 19 जैसी महामारी के दौर से गुजर रहा है देश प्रदेश के मिल कारखानों पर ताले लटकने का दौर लगातार  जारी है लोग बड़ी संख्या में बेरोजगार हो रहे हैं *ठीक उसी समय UPPCL में बैठे प्रबन्धन के नाम पर अनुभवहीन बड़का बाबूओ ने   उ प्र के बिजली उद्योग को लगातार 2000 से बर्बाद करने और इस उद्योग को कर्ज के दलदल में डालने में कोई कोरकसर नही छोड़ी है* और अब इस महामारी के दौर में *पूर्वांचल विद्युत वितरण निगम को देश की सरकार के गोद मे खेलने वाले बड़े बनियो के हाथों बेचने की साजिश रची जा चुकी है* जिससे यहाँ के हजारों कर्मचारियो का भविष्य खतरे में पड़ने के साथ साथ *पूर्वांचल के बिजली उपभोक्ताओं का भविष्य यहाँ के कल कारखानों को महंगी बिजली के रूप में भुगतने के संकेत साफ नजर आ रहे है* इस उद्योग को बचाने में जहाँ एक ओर *विद्युत कर्मचारी संघर्ष समिति एवं उसके घटक दलों के साथ जनजागरण अभियान के साथ साथ एक बड़े आंदोलन की रूप रेखा तैयार कर रही है* वही दूसरी ओर *UPPCL से लेकर पूर्वांचल डिस्कॉम के मुखिया यानी बड़के बाबू प्रबंध निदेशक सन 2000 के खलनायको से फोन पर वार्ता कर अपनी गोद मे बैठने की भूमिका में नजर आ रहे है* शायद इस उद्योग को बचाने के लिए इस बार विद्युत कर्मचारियो को सन 2000 के *खलनायको सहित विभाग में विगत 20 वर्षों में पैदा हुए जयचंद की भूमिका में आपके बीच बैठे गद्दारो से पूरी तरह सावधान की मुद्रा में रहते हुए इस लड़ाई को आगे बढ़ाना  होगा* । आखिर निजीकरण क्यो करना पड रहा है पूरे देश मे इन बडे बनियो ने जगह-जगह विद्युत उत्पादन कर रहे है और खपत के लिए सरकारी क्षेत्र के प्रबन्ध की तरफ देखना पडता है बडका बाबूओ की चिरौरी करनी पडती है तो कही किसी नेता को सलाम ठोकना पडता है और फिर भी मुनाफा कम  रहता है इनको ग्रहको की जरूरत है इसी लिए बडका बाबूओ को साध कर पूरे के पूरे डिस्कॉम को ही खरीदने की योजनाए बना ली गयी *फिर राजनेताओ को भी मलाई का लालच दे कर अपना उल्लू सीधा कर योजनाबद्ध रूप से काम करना शुरू कर दिया । जिसकी बलिवेदी पर अधिकारी और कर्मचारी को चढाने की पूरी रूप रेखा तैयार कर ली गई है* जिसके विरोध मे प्रदर्शन करने की तैयारी संघर्ष समिती के झन्डे तले हडताल का ऐलान कर दिया है परन्तु यह काम बहुत सावधानी है और दूसरी तरफ आपने बीच छुपे जयचंद से भी सावघान यहने की जरूरत है ।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company