Responsive Ad Slot

देश

national

सैफई मेडिकल कॉलेज रेफर मरीज को 3 घंटे तक आगरा की सड़कों पर घुमाता रहा एंबुलेंस चालक, इलाज न मिलने से महिला की मौत

Thursday, September 24, 2020

/ by Editor

 आगरा

उत्तर प्रदेश के आगरा में एंबुलेंस चालक की लापरवाही का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि चालक मरीज को लेकर आगरा की सड़कों पर तीन घंटे तक चक्कर काटता रहा। इसी दौरान महिला की मौत हो गई। महिला को आगरा से सैफई मेडिकल कॉलेज लिए रेफर किया गया था। परिजन उसे इलाज के लिए आगरा लेकर आए थे। बाद में जानकारी मिलने पर परिजनों ने हंगामा कर दिया जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले को शांत कराया।

जानकारी के अनुसार, मैनपुरी के असियोली में रहने वाले कुलदीप की पत्नी पूनम को पांच दिन पहले डिलेवरी के लिए आगरा के सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया था। दो दिन पहले पूनम ने एक बच्चे को जन्म दिया लेकिन जन्म के बाद ही उसकी मौत हो गई। इसके बाद पूनम की तबीयत भी बिगड़ने लगी। बुधवार को सर्वोदय अस्पताल के डाॅक्टरों ने सैफई मेडिकल कालेज के लिये रेफर कर दिया।

मरीज को आगरा ले जाने के लिए दस हजार में की थी एंबुलेंस
परिजन ने 10 हजार रुपए में एंबुलेंस बुक की। एंबुलेंस ने तीमारदारों से 10 हजार रुपए पहले ही ले लिए और करीब 12 बजे महिला को एंबुलेंस द्वारा परिवारीजन सैफई के लिए रवाना हो गए। लेकिन एंबुलेंस चालक ने मरीज की जिंदगी से बड़ा खिलवाड़ करते हुए सैफई जाने के बजाय आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर घुमाते हुए वापस आगरा ले आया और करीब तीन घंटे तक वह आगरा की सड़कों पर ही एंबुलेंस को दौड़ाता रहा।

परिजन को इस बारे में तब जानकारी हुई जब उन्होंने महात्मा गांधी मार्ग पर खुद को पाया परिवार वालों का गुस्सा भड़क गया। जब चालक से पूछा कि जाना तो सैफई था लेकिन तीन घंटे तक यु ही घुमाते रहने के बाद भी अभी हम आगरा में ही है। इतने में मरीज महिला की तबियत बिगड़ने लगी और कुछ ही देर में महिला की मौत हो गई। महिला की मौत होते ही चालक एम्बुलेंस छोड़कर भागने लगा तो परिवार वालों ने उसे पकड़ लिया।

पुलिस ने परिजनों को कराया शांत

उधर, महिला की मौत से परिवार के लोगों में चीख-पुकार मच गई। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई और एंबुलेंस चालक को हिरासत में लेकर थाना लोहामंडी ले गई। आगरा काॅलेज के सामने काफी देर तक मची चीख पुकार के बाद पुलिस ने परिजनों को समझा बुझा दिया और एक कागज पर यह लिखवा लिया कि हम किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं चाहते हैं और न पोस्टमार्टम। बाद में रोते-बिलखते सभी परिवारीजन दूसरी एंबुलेंस में महिला के शव को रखकर मैनपुरी के लिए रवाना हो गए।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company