Responsive Ad Slot

देश

national

कानपुर में 2 महीने में लव जिहाद के 11 केस दर्ज हुए

Friday, September 11, 2020

/ by Editor

कानपुर

उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले में बीते दो महीने में पांच थाना क्षेत्रों में लव जिहाद के 11 मामले सामने आए हैं। पीड़ित परिजन आरोपियों पर बरगलाकर धर्म परिवर्तन कराकर शादी करने का आरोप लगा रहे हैं। ऐसे में कुछ सामाजिक संस्थाओं ने इसे साजिश करार दिया है। इस प्रकरण की जांच के लिए एसआईटी का गठन कर दिया है। 8 सदस्यीय एसआईटी का प्रभारी एसपी साउथ दीपक भूकर को बनाया है। उन्हें जल्द से जल्द जांच रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है।


सभी मामलों में एक बात कॉमन- धर्म परिवर्तन कराया गया

कानपुर में लव जिहाद का पहला मामला दो जुलाई को बर्रा थाने में दर्ज हुआ था। यहां एक लड़की अपने प्रेमी संग फरार हो गई थी। उसके बाद उसने धर्म परिवर्तन कर अपना नाम बदलते हुए निकाह भी कर लिया था। परिवार ने मामला दर्ज कराया तो पुलिस ने तफ्तीश बढ़ाई। इसी बीच गिरफ्तारी से बचाने के लिए लड़की ने वीडियो जारी कर दिया। कहा कि, वह फिजा फातिमा बन चुकी है। जिसके बाद घर वालों ने आरोपी युवक के ऊपर जादू टोना, तंत्र-मंत्र और बरगलाने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया था।

इसके बाद इसी प्रवृत्ति के 10 मामले थाना चकेरी, पनकी और कानपुर दक्षिण और थाना महाराजपुर में पंजीकृत हुआ है। सभी मामलों में धर्म परिवर्तन करके शादी करने की बात सामने आई है। जिसको लेकर जहां पीड़ित परिजन लगातार बरगलाकर लड़कियों के धर्म परिवर्तन का आरोप लगा रहे हैं तो वहीं कुछ सामाजिक संस्थाएं इसे साजिश करार दे रही हैं। यह भी आरोप है कि इस काम में बाहरी संगठन इन युवकों की मदद कर रहे हैं। मामले को बढ़ता देख अब पुलिस ने भी अपने तेवर सख्त कर लिए हैं।

कहीं साजिश तो नहीं?
आईजी मोहित अग्रवाल के द्वारा गठित की गई एसआईटी की जांच तेजी के साथ आगे बढ़ रही है। इस बात की भी जानकारी कि जा रही है कि ऐसे प्रकरणों के पीछे अगर कोई साजिश है तो इस साजिश को रचने वाले कौन-कौन लोग हैं और इन लोगों को फंडिंग कहां से हो रही है। साथ ही साथ इस बात की पड़ताल भी की जाएगी कि ऐसी घटनाओं के पीछे किसी अन्य संगठन का हाथ तो नहीं है जिसके लिए आरोपियों के बैंक खातों पर भी नजर रखी जा रही है।

एसआईटी की जिम्मेदारी एसपी साउथ दीपक भूकर को सौंपी गई है। उनके साथ सीओ गोविंद नगर विकास पांडे, थाना प्रभारी नौबस्ता, जूही, किदवई नगर, गोविंद नगर के साथ पिंक चौकी महिला प्रभारी व दो सिपाहियों को भी रखा गया है। जो अभी तक आए सभी लव जिहाद के मामलों की जांच करेंगे।

क्या बोले आईजी कानपुर?
आईजी कानपुर मोहित अग्रवाल ने बताया कि अभी तक जितने भी मामले लव जिहाद के सामने आए हैं सभी को देखते हुए एसआईटी का गठन किया गया है और एसआईटी को लव जिहाद पीछे के सभी बिंदुओं पर जांच करके अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करनी है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company