Responsive Ad Slot

देश

national

मानस मंदिर मे बसें हैं राम - प्रिंस रस्तोगी

Friday, September 11, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

प्रिंस रस्तोगी, लखनऊ

कण कण में बसे रामहि राम|

कबीरा के भौहारी राम ||

तुलसी के अवतारी राम |

मानस मंदिर मे बसें हैं राम ||

उर बसै अनादि रामहि राम|

हर मानसि मा तत्व सामान ||

दशरथ नंदन है राजा राम |

रामहि रामहि नामहि रामा ||

कण कण में बस नाम ही राम|

जीवन अविरल जलधारा राम ||

सत्य सनातन धर्म-कर्म है राम|

वह कर्मशील पथ राजा राम ||

धरती ,जाल,आकाश,अनल गुण |

पुहुप समीर सुगंध अरूपं राम||

हमरे राम हैं तुम्हरे राम |

नदियन नदियन जो अरुप,अनूपं |

सरिता-सागर मिलन अनूपं ||

आदि-अंत है रामहि राम|

कण कण में बसे रामहि राम ||

तुम्हरे राम हैं हमरे राम |

राष्ट्र राम हैं सबमें राम||

बाहरि राम हैं अंदरि राम |

कण कण में बसे रामहि राम||

राष्ट्र राम जय राजा राम |

हम सबमे बसे रामहि राम ||

राष्ट्र राम हैं राजा राम |

निर्गुण-सगुण राष्ट्र है राम ||

( Hide )

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company