Responsive Ad Slot

देश

national

एक आवाज एक मिशन संस्था के तले फीस माफी को लेकर अभिभावकों का शांतिपूर्ण प्रदर्शन

Thursday, September 3, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

 

सुरेश कश्यप (इंडेविन टाइम्स)
लखनऊ। राजधानी लखनऊ में स्कूल फीस माफी को लेकर कानपुर रोड स्थित स्प्रिंगडेल स्कूल पर ‘एक आवाज एक मिशन’ संस्था के बैनर तले अभिभावकों ने शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया। इस दौरान संस्था के संयोजक राकेश तिवारी व प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों ने अपनी मांगों को रखा। 
देशभर में महामारी कोरोनावायरस के प्रकोप के कारण स्कूलों को बंद रखा गया है। सभी स्कूली बच्चों की पढ़ाई ऑनलाइन करवाई जा रही है। लेकिन इस कोरोना काल में बहुत से लोगों को अपनी नौकरी गवांनी पड़ी। ऐसे में बहुत से अभिभावक स्कूल की महंगी फीस चुकाने में असमर्थ हैं। कोरोना के दौर में क्लास न चलने पर स्कूल फीस को माफ करने की बात भी लगातार उठती रही है। इसी कड़ी में लखनऊ की संस्था एक ‘आवाज एक मिशन’ भी कई दिनों से इस पर शान्तिपूर्ण प्रदर्शन करती आ रही है। कानपुर रोड स्थित स्प्रिंगडेल स्कूल पर एक शान्तिपूर्ण प्रदर्शन किया गया। प्रदर्शन के दौरान संस्था के संयोजक राकेश तिवारी, उप संयोजक व अभिभावक शामिल रहे। राकेश तिवारी का कहना है कि अभिभावकों के ऊपर स्कूल प्रबंधक फीस जमा करने का दबाब बना रहे हैं। कोरोना महामारी के दौरान जब अर्थव्यवस्था पूरी तरह चौपट हो चुकी हैं। लोगों के पास आय के साधन समाप्त हो गये हैं। ऐसे में अभिभावकों के सामने बच्चों की फीस भरने का संकट खड़ा हो गया है। उन्होने आगे कहा कि ऑनलाइन पढ़ाई के साथ खानापूर्ति की जा रही है। सरकार के जिम्मेदार लोग अभिभावकों की मांग के प्रति मौन हैं। प्रदर्शन कर रहे अभिभावकों का कहना था कि फीस में छूट दिलाने के लिये प्रदेश सरकार को उचित और सख्त कदम उठाने की आवश्यकता है। क्योंकि सरकार के निर्देश के बावजूद कई स्कूल पूरी फीस वसूल रहे हैं। फीस न देने पर ऑनलाइन क्लास से बच्चों के नाम तक काटे जा रहे हैं। विरोध करने पर बच्चों का भविष्य खराब करने का भय भी दिखाया जा रहा है। संस्था के सहसंयोजक का कहना था कि वैश्विक संकट के इस दौर में स्कूलों को फीस माफ करनी चाहिये। कोरोना वायरस के चलते पिछले कई महीनों से सभी स्कूल बन्द हैं। शैक्षिक सत्र 2020-21 की पढ़ाई ऑनलाइन हो रही है। लॉकडाउन और कारोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित अभिभावकों से भारी भरकम फीस वसूलना उचित नहीं है। 
इंडेविन टाइम्स से बात करते हुये संस्था के संयोजक राकेश तिवारी ने बताया कि हमने शान्तिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन किया, इसके बावजूद भी स्कूल प्रशासन ने बात करने की जरूरत नहीं महसूस की। जबकि बाल संरक्षण आयोग द्वारा यह आदेश भी है कि कोई भी स्कूल बच्चों की फीस न जमा होने की वजह से ऑनलाइन पढ़ाई से छात्र का नाम नहीं काटेगा। इसके बावजूद स्कूल वाले फीस न जमा होने पर छात्रों के नाम काट रहे हैं। उन्होने आगे कहा कि जब तक फीस माफ नहीं होती, तब तक ये मेरा विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा। आने वाले दिनों में मै संगठन के बैनर तले विधानसभा का घेराव करूंगा। जिसमें हजारों की संख्या में देशभर के मध्यवर्गीय अभिभावक शामिल होंगे। इस विरोध प्रदर्शन में विजय सिंह, कमल वाजपेयी, राजेश सिंह, गौतम बत्रा, ऋषि पाल सिंह, नीरज, रवि कुमार, सन्नी बत्रा, अभिषेक सिंह, अरूण पाण्डेय, सतेन्द्र मिश्रा, सुशांक राणा, डब्बू, राज रावत, मनी सिंह, बलराम कुमार उर्फ नाटू आदि 30 से 40 अभिभावक शामिल रहे। 
( Hide )

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company