Responsive Ad Slot

देश

national

अपना सारा जीवन दे डाला - पूनम हिम्मत अद्वितीय

Sunday, September 6, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi


पूनम हिम्मत अद्वितीय

माता-पिता ने देह दिया यह ,

इससे बड़ा वर क्या होगा ।

अपने रक्त से सिंचा हमको ,

इससे बड़ा ऋण क्या होगा ।

अपना सारा जीवन दे डाला  

अब और समर्पण क्या होगा ।

जब तक हैं वे नित करो सेवा ,

मृत्यु पे तर्पण क्या होगा ।

तरस रहे जो कण कण को ,

उन्हें बाद में अर्पण क्या होगा ,

गला सूखता बूंद न जल की ,

बाद में घट का क्या होगा ।

जब वस्त्र नहीं है अभी देह में , 

 बाद में मलमल क्या होगा ।

अभी कोसते रहते प्रतिपल  ,

बाद का प्रतिफल क्या होगा ।

कर दो अर्पण सब इस लोक में ,

बाद का तर्पण क्या होगा।

( Hide )
  1. बहुत प्रशंसनीय। हम सब आज जो भी कुछ हैं, अपने मता पिता की वजह से है

    ReplyDelete

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company