Responsive Ad Slot

देश

national

पक्ष फलादेश-अधिक आश्विन कृष्ण पक्ष (2 से 16 अक्टूबर) - आचार्य डॉ प्रदीप द्विवेदी

Friday, September 25, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi

 


आचार्य डा0 प्रदीप द्विवेदी
‘‘मानव सेवा रत्न से सम्मानित’’
(वरिष्ठ सम्पादक-इडेविन टाइम्स)

अधिक मास (मलमास) का यह दूसरा पक्ष है। लाल बहादुर शास्त्री एवं महात्मा गांधी की जयंती पक्ष के आरम्भ 2 अक्टूबर को मनायी जायेगी। अशून्य शयन का व्रत चन्द्रोदय व्यापिनी द्वितीया तिथि में 3 अक्टूबर शनिवार को किया जायेगा। चन्द्रोदय का समय रात 6ः46 बजे है, उसके बाद ही चन्द्रमा को अर्घ्य दिया जायेगा। संकष्टी श्रीकणेश चतुर्थी व्रत का मान 5 अक्टूबर सोमवार को होगा। चन्द्रोदय का समय रात 7ः54 बजे है, उसके बाद चन्द्रमा का अर्घ्य दिया जायेगा। पुरूषोत्तमी एकादशी व्रत का मान सबके लिये 13 अक्टूबर सोमवार को होगा। प्रदोष का व्रत 14 अक्टूबर बुधवार को किया जायेगा। शिवपूजन में अत्यन्त महत्वपूर्ण मलमास की मास शिवरात्रि के व्रत का मान 15 अक्टूबर गुरूवार को होगा। स्नान-दान एवं श्राद्ध सहित पुरूषोत्तमी अमावस्या 16 अक्टूबर शुक्रवार को होगा। चित्रा नक्षत्र का सूर्य 10 अक्टूबर शनिवार को रात 3ः56 बजे से आयेगा। इसमें यत्र-तत्र वर्षा होने की संभावना बन रही है। खाद्यान्नों में ग्रहूं, चना, अरहर तथा कपास सूत एवं केशर, लाख चपड़ी के भाव में तेजी का झटका आयेगा। इस पक्ष में तृतीया तिथि की वृद्धि हो गयी है तथा चतुर्दशी तिथि का क्षय हो गया है। इस प्रकार यह पक्ष 15 दिन का है। पक्ष के तीन शुक्रवार एवं शुक्रवार की अमावस्या सुभिक्षकारी हैं। सुख-सुविधा का वातावरण बनेगा। 16 अक्टूबर शुक्रवार की मध्यरात्रि के बाद मलमास समाप्त हो जायेगा। 

शुद्ध आश्विन शुक्ल पक्ष (17 से 31 अक्टूबर) का पक्ष फलादेश अगले अंक में पढ़े........................

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company