Responsive Ad Slot

देश

national

अधर में पड़ा ओपीडी, आपातकालीन चिकित्सा कक्ष का निर्माण

Tuesday, October 13, 2020

/ by Editor

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

o जनप्रतिनिधियों की उदासीनता से लोगों को नही मिल रही स्वास्थ्य सुबिधायें

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमेठी में रोगी की बढती भीड़ व उनके इलाज के लिए अर्से से भवन की किल्लत प्रशासन की आंखों में समस्या बन चुभती रहीं। तत्कालीन सांसद राहुल गांधी ने समस्या से निजात पाने के लिए अस्पताल में ओपीडी, आपातकालीन चिकित्सा, कक्ष के निर्माण के लिए प्रशासन से प्रस्ताव सरकार को भेजा। जिस पर शासन ने 1.37 लाख रुपये की स्वीकृत किये तथा निर्माण के लिए धनराशि मिलने पर प्रशासन ने कार्यदायी संस्था उत्तर प्रदेश राज्य सहकारी संघ लिमिटेड इकाई -सुल्तानपुर को सौंपी गई। अगस्त 2017 में निर्माण शुरू हुआ। और 18 माह में कार्य पूरा करने की समय सीमा तय की थी।           

भवन के कक्ष का निर्माण जनवरी 2019 में पूरा होना रहा  लेकिन कार्यदायी संस्था का निर्माण कार्य पर अब भी ग्रहण लगा है। करार के इतर बीस माह बीत गए ।अभी रोगियो को इलाज के लिए प्रशासन भवन कक्ष नही उपलब्ध करा सका। इस अव्यवस्था को अमेठी के जनता के साथ सौतेलापन करार  देते हुए कांग्रेस सेवा दल युवा जिलाध्यक्ष अजीत यादव, कांग्रेस सेवा दल जिलाध्यक्ष रामबरन कश्यप, जिला उपाध्यक्ष भारत धुरिया, जिला संगठन मंत्री उदय राज यादव, पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं कांग्रेस नेत्री कलावती मौर्य आदि नेताओं ने दिया है। जनता को स्वास्थ्य सुबिधा देने में सरकार रूचि नहीं है। जनप्रतिनिधियों की उदासीनता उजागर हुई। किसान, महिला, छात्र, युवा, गरीब, रोषित, मजलूम को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।                              

                                 

समाजवादी पार्टी अमेठी बिधान सभा अध्यक्ष एवं जिला पंचायत सदस्य शम्भू यादव, सपा महिला प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष गुजंन सिंह, सपा नेता सूबेदार यादव, राम चन्द्र यादव आदि का आरोप है कि निर्माण एजेंसी की मनमानी पर अंकुश लगाया जाय और अनुबंधित जमा राशि जिलाधिकारी अमेठी जब्त कर तत्काल प्रभाव से कार्यवाही करें। चिकित्सकों को सीएससी अमेठी में बैठने के लिए कक्ष नहीं है फिर भी सरकार उदासीन है।                    

उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ लिमिटेड के अध्यक्ष भी अपनी जिम्मेदारी से भग रहे हैं। तभी तो कार्यदायी संस्था के निर्माण कार्य का निरीक्षण अमेठी आने के बाद भी नहीं किया। इससे जाहिर है कि प्रदेश सरकार अमेठी के बिकास में रोड़ा डाल रहीं हैं।भाजपा के जनप्रतिनिधि भी इस सामाजिक कार्य से पूरी तरह उदासीन बने हुए हैं।





No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company