Responsive Ad Slot

देश

national

नेपाल के पीएम ओली ने फिर दिया विवादित बयान , कहा -40 एकड़ में बना रहे अयोध्‍यापुरी धाम

Thursday, October 1, 2020

/ by Editor

 काठमांडू

कम्‍युनिस्‍ट चीन के इशारे पर नाच रहे नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने एक बार फिर से अयोध्‍या का राग अलापा है। भारत की अयोध्‍या नगरी को नकली बताने वाले नेपाली पीएम चितवन जिले में 40 एकड़ की जमीन पर अयोध्यापुरी धाम का निर्माण करने जा रहे हैं। इसके लिए जमीन भी आवंटित कर दी गई है। इससे पहले ओली ने भारत की अयोध्‍या को नकली बताया था और दावा किया था कि असली अयोध्‍या नेपाल के चितवन जिले के माडी में स्थित है।


नेपाली पीएम ओली ने बुधवार को कहा कि माडी नगरपालिका ने अयोध्यापुरीधाम बनाने के लिए 40 एकड़ जमीन आवंटित करने का फैसला किया है। उधर, नेपाल नैशनल न्यूज एजेंसी से माडी के मेयर ठाकुर प्रसाद धाकल ने बताया कि 29 सितंबर को हुई बैठक में अयोध्‍यापुरीधाम बनाने को लेकर फैसला किया गया है। मेयर ने कहा कि हमारे पास 50 बीघा अतिरिक्त जमीन है, अगर हमें कोई तकनीकी दिक्कत आती है तो हम इस जमीन का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

अयोध्यापुरी धाम के निर्माण के लिए मास्टर प्लान तैयार
धाकल ने बताया कि अयोध्यापुरी धाम के निर्माण के लिए मास्टर प्लान तैयार कर लिया गया है और जल्द ही एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार कर ली जाएगी। बता दें कि ओली के बयान का भारत ही नहीं नेपाल में जमकर विरोध हुआ था। इस आलोचना के बाद भी नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली फिलहाल अपने रुख से पीछे हटते नहीं दिख रहे हैं। ओली ने ही पिछले दिनों माडी में भगवान राम का जन्मस्थान बताते हुए राम मंदिर निर्माण का फैसला किया था। उन्होंने इसके लिए स्थानीय प्रतिनिधियों को प्लान तैयार करने को कहा है जबकि अधिकारियों का मानना है कि पहले वहां के लोगों की असल समस्याएं हल की जाएं, उसके बाद राम मंदिर बनवाया जा सकता है।

माना जा रहा है कि ओली के निर्देश पर ही अयोध्‍यापुरी धाम बनाने का फैसला किया गया है। बताया जा रहा है कि माडी के नगर निकाय अधिकारियों को ओली ने फोन करके पिछले दिनों बुलाया था। दो घंटे चली बैठक के दौरान ओली ने उनसे कहा कि नेपाल में राम मंदिर बनना चाहिए। ओली ने इस दौरान दावे से कहा कि भगवान का राम नेपाल की अयोध्यापुरी में हुआ था। उन्होंने स्थानीय लोगों से बातचीत करके वहां मौजूद ऐतिहासिक सबूतों को संरक्षित करने के लिए कहा। इसके साथ ही और सबूत जुटाने के लिए अयोध्यापुरी में खुदाई का निर्देश भी दिया था।

किया था दावा, भारत में नकली अयोध्या
बता दें कि पिछले महीने ओली ने दावा किया था कि भारत ने सांस्कृतिक अतिक्रमण के लिए नकली अयोध्या का निर्माण किया है। जबकि, असली अयोध्या नेपाल में है। ओली ने तर्क दिया कि अगर भारत की अयोध्या वास्तविक है तो वहां से राजकुमार शादी के लिए जनकपुर कैसे आ सकते हैं। उन्होंने दावा किया कि विज्ञान और ज्ञान की उत्पत्ति और विकास नेपाल में हुआ। उनके इस बयान पर न सिर्फ भारत बल्कि नेपाल में भी उनकी खूब आलोचना हुई थी।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company