देश

national

हैदराबाद में बोले योगी - टीआरएस और एआईएमआईएम का गठबंधन जन भावना का मजाक

Saturday, November 28, 2020

/ by Dr Pradeep Dwivedi



 टीआरएस को एआईएमआईएम जैसे नमूने अराजकता फैलाने के लिए मिले - योगी


 हैदराबाद/लखनऊ।

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हैदराबाद में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की सरकार और आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिममीन (एआईएमआईएम) पर खूब बरसे। उन्होंने कहा कि एआईएमआईएम के दो भाई हमेशा उलटा बोलते हैं और टीआरएस को एआईएमआईएम जैसे नमूने अराजकता फैलाने के लिए मिल गए हैं। उन्होंने कहा कि जब देश के सारे नेता सो रहे थे तो प्रधानमंत्री कोविड वैक्सिन के लिए अहमदाबाद ,हैदराबाद और पुणे की लैब का दौरा कर रहे थे। आपके बीच भी आए थे। टीआरएस के मुख्यमंत्री तो आज तक हैदराबाद की लैब में गए भी नहीं होंगे। 

यह बातें उन्होंने शनिवार को हैदराबाद के मलकजगिरि में और शालीबंदा लाल दरवाजा के अलका थिएटर ग्राउंड में आयोजित जनसभा के दौरान कही। उन्होंने टीआरएस और एआईएमआईएम पर भ्रष्टाचार सहित कई गंभीर आरोप लगाए। हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि एआईएमआईएम के एक विधायक ने जब संविधान की शपथ लेने की बात आई, तो उन्होंने हिंदुस्तान बोलने से इनकार कर दिया। हिंदुस्तान के नाम पर शपथ नहीं ली। हिंदुस्तान में रहेंगे, हिंदुस्तान का खाएंगे, लेकिन जब संविधान की शपथ हिंदुस्तान के नाम पर लेने की बात आएगी, तो हिंदुस्तान नाम बोलने में संकोच करेंगे, यही एआईएमआईएम की असलियत है।

योगी ने कहा कि टीआरएस सरकार ने एआईएमआईएम के साथ गठबंधन कर जनता की भावना के साथ खिलवाड़ किया है। मैं पूछना चाहता हूं  अगर प्रधानमंत्री देश के अंदर 12 करोड़ किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि का छह हजार रुपए सालाना डीबीटी के माध्यम से आनलाइन उनके अकाउंट में डाल सकते हैं, तो फिर हैदराबाद में बाढ़ पीड़ितों की दी जाने वाली धनराशि गरीबों के खाते में क्यों नहीं पहुंची?  भ्रष्टाचार फैलाने और लूट खसोट की छूट यहां पर आखिर क्यों दी गई? ये चीजें एक बात को बताती हैं, जिस हैदराबाद के सामने विकास की बहुत संभावनाएं थीं, आज उन सपनों को धूल धूसरित करने का कार्य यहां का एक परिवार और उनकी मित्र मंडली कर रही है। जबकि लोकतंत्र में परिवारवाद की कोई जगह नहीं होती। 

उन्होंने कहा कि आपके पूर्वजों ने निजामशाही के खिलाफ  लड़ाई लड़ी थी। आज निजाम के रूप में एक परिवार फिर से आकर  पूरे तेलंगाना और हैदराबाद में लूट खसोट का  दुस्साहस करे, यह स्वीकार नहीं होना चाहिए। 

ये नापाक गठबंधन यहां के विकास को अवरूद्ध कर रहा

योगी ने कहा कि मैंने आज देखा कि यहां पर एक नदी के अतिक्रमण को न हटाने के कारण लोगों को बाढ़ की त्रासदी का सामना करना पड़ रहा है। मैं पूछना चाहता हूं कि एक नदी यहां पर भी है, लेकिन टीआरएस की सरकार ने उस नदी को और भी प्रदूषित कर दिया है। उस नदी की अविरलता, निर्मलता इसलिए नहीं बन सकती, क्योंकि एआईएमआईएम से जुड़े हुए लोगों ने अवैध कब्जे कर यहां के लोगों को बाढ़ से पूरी तरह से डूबोने की साजिश का हिस्सा बनाकर कब्जा किया है। टीआरएस और एआईएमआईएम की मित्रता इस पवित्र नदी की अविरलता और निर्मलता में बाधक है। ये  नापाक गठबंधन यहां के विकास को अवरूद्ध कर रहा है। 

यहां का वास्तविक नाम भाग्य नगर क्यों नहीं हो सकता

सीएम योगी ने कहा कि लोग मुझसे पूछ रहे थे क्या हैदराबाद भाग्य नगर हो सकता है। मैंने कहा क्यों नहीं, हमने कहा देखिए, उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार आई, हमने फैजाबाद को अयोध्या कर दिया। इलाहाबाद को प्रयागराज कर दिया तो फिर हैदराबाद भाग्य नगर क्यों नहीं हो सकता? भाग्य नगर तो सम्पन्नता और का विकास का प्रतीक है।

कुछ लोग थे, जो आपकी आस्था का अपमान करते थे

उन्होंने कहा कि अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए तेलंगाना और हैदराबाद से भारी संख्या में कारसेवक गए थे। आपके पूर्वज इसके लिए लगातार आंदोलन करते रहे, लेकिन कुछ लोग थे, जो आपकी आस्था का अपमान करते रहे। अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम के निर्माण का मार्ग न प्रशस्त हो इसके लिए ऐसे लोगों ने हर संभव प्रयास किया। लेकिन हम सब आभारी हैं पीएम मोदी जी के। 492 वर्षों में जो कार्य नहीं हो पाया, प्रधानमंत्री ने शांतिपूर्ण तरीके से मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त कर राष्ट्र गौरव के लिए हम सबको अवसर दिया।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company