Responsive Ad Slot

देश

national

ऐक्शन में योगी सरकार, गंगा में मल गिरा रहे सीवेज प्लांट पर लगा 3 करोड़ रुपये का जुर्माना

Monday, November 9, 2020

/ by Editor

वाराणसी

पीएम के ड्रीम प्रॉजेक्ट नमामि गंगे को लेकर योगी सरकार ऐक्शन में है। गंगा में गंदगी करने वालों पर अब सरकार ने कार्यवाई भी शुरू कर दी है। वाराणसी के रमना एसटीपी (सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट) पर सरकार ने 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। गंगा में प्रदूषण करने वालों पर योगी सरकार का अब तक का ये सबसे बड़ा ऐक्शन है।


जानकारी के मुताबिक, नामानि गंगे योजना के तहत योजना के प्रमुख सचिव के निर्देश पर प्रदेशभर में संचालित होने वाली एसटीपी प्लांट के जांच के किए विभाग ने 9 टीमों का गठन किया। शनिवार को विभाग की टीम ने वाराणसी के रमना एसटीपी का निरीक्षण कर हकीकत परखी, तो प्लांट मानक के अनुरूप नहींं पाया गया। जिसके बाद टीम के रिपोर्ट पर विभाग ने रमना एसटीपी के संचालक पर तीन करोड़ का जुर्माना लगा दिया। नमामि गंगे के प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव ने इसकी पुष्टि की है।

ये है क्षमता
पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशीप) के तहत तैयार हुए इस एसटीपी की क्षमता 50 एमएलडी है। हाल में ही इस एसटीपी प्लांट का निर्माण कार्य पूरा हुआ। लेकिन बावजूद इसके जब नमामि गंगे की टीम ने इसका स्थलीय निरीक्षण कर जायजा लिया, तो कार्यक्षमता और गुणवत्ता में ये प्लांट मानक के पैमानों पर खरा नहींं उतरा।

104 एसटीपी होते हैं संचालित
बता दें कि उत्तर प्रदेश में कुल 104 एसटीपी प्लांट संचालित है। जिसमें 44 एसटीपी प्लांट नमामि गंगे के अंतर्गत है। सरकार ने इन एसपीटी प्लांट का निर्माण इसलिए किया ताकि गंगा में गिरने वाले सीवेज के जल को शुद्ध कर उसे गंगा में छोड़ा जाए जिससे गंगा में प्रदूषण कम हो।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company