Responsive Ad Slot

देश

national

PM नरेंद्र मोदी ने जारी किया डाक टिकट; कहा- लखनऊ विश्वविद्यालय उपलब्धियों का जीता जागता इतिहास, हमें इस पर गर्व

Wednesday, November 25, 2020

/ by Editor

लखनऊ

लखनऊ यूनिवर्सिटी स्थापना के 100 साल पूरे होने का जश्न मना रही है। इस मौके पर पीएम मोदी ने लखनऊ विश्वविद्यालय को शताब्दी वर्ष के मौके पर शुभकामनाएं दी। मोदी ने कहा कि सौ वर्ष का समय एक आंकड़ा नहीं है। अपार उपलब्धियों का एक जीता जागता इतिहास है। यहां देश दुनिया के लिए अनेक प्रतिभाओं को बनते हुए देखा है। यहां के छात्र अनेक जगह पहुंचे। उन्होंने कहा कि मुझे जब यहां से पढ़े लोगों से बात की उनकी आंखों चमक आ जाती है। लखनऊ हम पर फिदा और हम फिदा-ए-लखनऊ।

पीएम ने कहा कि लखनऊ यूनिवर्सिटी के कला संकाय प्रांगण में नेता सुभाष चन्द्र बोस की आवाज गूंजी थी। कल जब संविधान दिवस मनाएंगे तब नेता जी की याद आएगी। मैं सभी विभूतियों का अभिनन्दन करता हूं। टैगोर लाइबेरेरीऔर कैंटीन केसमोसे और बन मक्खन याद रहता है। आज एकादशी है, देव जागरण का दिन है। यह बातें बुधवार को लखनऊ व‍िश्‍वव‍ि़द्यालय के शताब्‍दी वर्ष समारोह के समापन अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंंद्र मोदी ने कही।

खास है सिक्का, मुंबई में बनकर तैयार हुआ

साथ ही शताब्दी स्मारक सिक्के का अनावरण किया। मैसूर यूनिवर्सिटी और बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के बाद लखनऊ यूनिवर्सिटी तीसरी ऐसी यूनिवर्सिटी बन जाएगी, जिसके 100 साल पूरे होने पर स्मारक सिक्का जारी किया गया। कुलपति आलोक कुमार राय ने कहा कि यह सिर्फ एक सिक्का नहीं है, बल्कि एक अमूल्य ऐतिहासिक धरोहर और यूनिवर्सिटी के 100 साल की श्रेष्ठता का प्रतीक भी है। इस सिक्के को मुंबई में सरकारी टकसाल में बनाया गया है। यह यूनिवर्सिटी के खजाने में एक संपत्ति होगी। सिक्का बनाने में चांदी, कांस्य, तांबा और निकल का इस्तेमाल किया गया है।

बीकानेर के जाने-माने मुद्रावादी सुधीर लूनावत के अनुसार, यह एक नॉन-सर्कुलेटिंग सिक्का होगा और इसमें वर्ष 1920-2020 के साथ-साथ अंग्रेजी और हिंदी में 'लखनऊ विश्वविद्यालय शताब्दी समारोह' लिखा होगा और केंद्र में यूनिवर्सिटी का 'लाइट एंड लर्निंग' लोगो होगा।

1920 में हुई थी स्थापना

लखनऊ यूनिवर्सिटी की स्थापना 1920 में हुई थी। ऐसे में यह साल यूनिवर्सिटी के 100वें साल के रूप में मनाया जा रहा है। यूनिवर्सिटी से करीब 160 कॉलेज एफिलिएटेड हैं। आज होने वाले कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री ने लखनऊ यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह का उद्घाटन किया था। इस दौरान उन्होंने राज्य में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के क्रियान्वयन के बारे में भी चर्चा की।

5 दिनों से चल रहा शताब्दी दिवस समारोह

लखनऊ विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के तहत रविवार को साहित्यिक उत्सव का आयोजन किया गया। इसमें फिल्म अभिनेता अनुपम खेर ने भी वर्चुअली हिस्सा लिया। स्पेन से आए मेहमानों ने यूनिवर्सिटी के इतिहास और आधुनिक विकास के बारे में जानकारी प्राप्त की। वहीं, बीते सोमवार को हुए कार्यक्रम में कवि डॉक्टर कुमार विश्वास ने शिरकत की।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company