Responsive Ad Slot

देश

national

सरकारी नौकरी के नाम पर बेराजगार युवकों से लाखों रुपये ठगी करने वाले गैंग का भंडाफोड़

Wednesday, November 4, 2020

/ by Editor

 कानपुर

सरकारी नौकरी के नाम पर बेराजगार युवकों से लाखों रुपये ठगी करने वाले अंतरराज्‍यीय गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। कानपुर पुलिस ने इस गिरोह के पांच सदस्‍यों को अरेस्‍ट करने में सफलता हासिल की है। यह गैंग बेरोजगारों युवकों को कूटरचित तरीके से फर्जी जॉइनिंग लेटर देकर ठगते थे। पुलिस ने इनके पास से रेलवे, एनपीटीसी, एसबीआई, पोस्ट ऑफिस, भारतीय खाद्य विभाग और कृषि विभाग के 32 जॉइनिंग लेटर बरामद किए हैं। इस गिरोह के सदस्य देश लगभग सभी राज्यों में फैले हैं।
कानपुर देहात के खमैला गांव में रहने वाले रोहित कुमार से रेलवे में र्क्लक की नौकरी लगवाने के नाम पर 8 लाख 49 हजार 500 रुपये की ठगी हुई थी। रोहित को फर्जी जॉइनिंग लेटर दिया गया था। पीड़ित ने जूही थाने में आमरीन फातिमा उर्फ रीना खान, उसके पति कुलदीप सिंह, विनय पाल, दीपक कुमार और सुनील कुमार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने बुधवार को महिला समेत 5 लोगों को अरेस्ट किया है। अरेस्ट किए गए आरोपियों 10 एटीएम, 8 मोबाइल फोन, 5 आधार कार्ड, 2 फर्जी आधार कार्ड, पहचान पत्र और 3700 रुपये बरामद किया गया है।

यूं बनाते थे बेरोजगारों को शिकार
एसपी साउथ दीपक भूकर के मुताबिक, आरोपियों ने बताया कि वे बेरोजगार युवकों को सरकारी विभागों के विभिन्न पदों पर नौकरी लगवाने का लालच देते थे। युवकों से अलग-अलग सरकारी विभाग के पदों के हिसाब से लाखों रुपये ऐंठते थे और फर्जी जॉइनिंग लेटर देते थे। आमरीन फातिमा और उसका पति कुलदीप बेरोजगार युवकों की तलाश करते थे। दीपक और सुनील कुमार कूटरचित तरीके से फर्जी जॉइनिंग लेटर तैयार करते थे। युवकों से रुपये ठगी करने के बाद आपस में बांट लेते थे। इनके सदस्य देश के कई राज्यों में फैले हैं। यह गिरोह बीते 5 वर्षो से संचालित था और बड़ी संख्या में युवाओं को ठगी का शिकार बना चुका है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company