Responsive Ad Slot

देश

national

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सम्मान समारोह में कहा- जम्मू एवं कश्मीर में प्रतिभाओं की कमी नहीं, वहां पंचायत चुनाव कराना बड़ा लक्ष्य

Wednesday, December 2, 2020

/ by Editor

गाजीपुर

जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल (LG) मनोज सिन्हा बुधवार को अपने गृह जनपद गाजीपुर पहुंचे। LG बनने के बाद पहली बार अपने गृह जनपद आए सिन्हा ने कहा कि एलजी की जिम्मेदारी के बाद जम्मू एवं कश्मीर में पंचायत चुनाव संपन्न कराना सबसे बड़ा लक्ष्य है। कुछ चरण में पंचायत चुनाव हो गए हैं और छह चरण में बाकी हैं। कड़ी सुरक्षा और पुख्ता इंतजाम के बीच जम्मू-कश्मीर की जनता बेहद खुश है।

इससे पहले गाजीपुर पहुंचने पर अंधऊ एयरपोर्ट पर BJP कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इसके बाद सिन्हा सड़क मार्ग से अपने पैतृक गांव मोहनपुरा रवाना हो गए। जहां उन्होंने परिवार के व्यक्तिगत कार्यक्रम में शामिल हुए। आज LG का गाजीपुर के लंका मैदान में मनोज सिन्हा का अभिनंदन किया गया। समारोह के बाद वह वाराणसी के लिए रवाना हो गए।

जम्मू कश्मीर में विकास की अपार संभावनाएं

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सम्मान समारोह में कहा कि जम्मू कश्मीर की फिजा में परिवर्तन होने लगा है। वहां विकास की अपार संभावनाएं हैं। सरकार की ओर से रोजगार और शिक्षा के अवसर प्रदान करने की कोशिश की जा रही है। साथ ही युवाओं के चेहरों पर मुस्कान लौटाने की दिशा में काम हो रहा है। आने वाले वर्षों में बड़ी संख्या में सरकारी नौकरियां दी जाएंगी। इसके लिए रोडमैप तैयार कर लिया गया है।

बुधवार को गाजीपुर पहुंचे उप राज्यपाल मनोज सिन्हा लंका मैदान में आयोजित स्वागत समारोह में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने उप राज्यपाल की जिम्मदेारी तब कठिनता का एहसास हुआ था लेकिन हालातों से जूझकर ही परिवर्तन करने की प्रेरणा भी मिली।

जम्मू कश्मीर में प्रतिभाओं की कमी नहीं

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि 112 दिन के कार्यकाल में हर दिन नया प्रयास किया और इस दौरान लोगों में नए प्रकार का विश्वास पैदा हुआ है। राज्य के युवाओं में प्रतिभाओं की कमी नहीं है। बस उन्हें सही दिशा देने की जरूरत है। युवा पीढ़ी बेरोजगारी का दंश झेल रही थी, जिसे बदलने की दिशा में कवायद जारी है।

जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग

मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और रहेगा। यह देश की संसद ने पारित किया है लेकिन भारत के साथ पूरी तरह से इंटीग्रेशन करने का काम मेरे कंधों पर है। पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के भरोसे से हर कदम परिवर्तन की ओर बढ रहा है। हालांकि यह काम सभी के सहयोग से हो रहा है।

अगस्त में उपराज्यपाल बने थे मनोज सिन्हा
गाजीपुर के पूर्व सांसद मनोज सिन्हा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री थे। लेकिन 2019 के चुनाव में वे चुनाव हार गए थे। संभावना थी कि उन्हें राज्यसभा भेजा जाएगा। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। करीब एक साल के इंतजार के बाद छह अगस्त को उन्हें जम्मू-कश्मीर का लेफ्टिनेंट गवर्नर (LG) बनाया। बुधवार को उनके गाजीपुर प्रथम आगमन को लेकर लोग काफी उत्साहित नजर आए।

प्रोटोकॉल के मुताबिक एयरपोर्ट पर सुरक्षा के कड़े इंतजाम थे। एयरपोर्ट पर BJP पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने के बाद मनोज सिन्हा अपने पैतृक गांव पहुंचे। जहां वे परिवार में आयोजित धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company