Responsive Ad Slot

देश

national

लखनऊ: अजीत सिंह के हत्यारोपी कुंटू सिंह के मकान पर चली जेसीबी

Thursday, January 7, 2021

/ by Indevin Times

लखनऊ 

लखनऊ में बुधवार की रात अजीत सिंह की हत्या के मामले में आजमगढ़ के माफिया कुंटू सिंह का नाम सामने आने के बाद जिला प्रशासन की तरफ से बड़ी कार्रवाई देखने को मिली है। आजमगढ़ जिला प्रशासन ने गुरुवार को माफिया ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह के मकान और कटरे पर बुलडोजर चलवा दिया है। जीयनपुर में स्थित कुंटू सिंह की तीन मंजिला इमारत गिराने के लिए भारी फोर्स के साथ डीएम एसपी भी पहुंचे। कुंटू पर आज़मगढ़, मऊ, जौनपुर में गम्भीर धाराओं में 67 मुकदमे दर्ज हैं। 

बुधवार की रात हुई कई राउंड हुई फायरिंग में अजीत सिंह का एक साथी मोहर सिंह और एक डिलीवरी ब्वॉय आकाश भी घायल हुआ था। घायल मोहर सिंह की तहरीर पर कुंटू सिंह, अखंड सिंह और गिरधारी विश्वकर्मा के खिलाफ 302,307,120B और धारा 34 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। गुरुवार को जिला प्रशासन ने माफिया कुंटू सिंह का घर गिराने के लिए बुलडोजरों की लाइन लगा दी। प्रशासन की तरफ से माफिया के मकान और कटरे को ध्वस्त करने की कार्रवाई जारी है।

कुंटू ने रची थी विधायक की हत्या की साजिश, अजीत बना था गवाह
साल 2005 के पहले कुंटू सिंह ने विधायक सीपू सिंह की हत्या की साजिश रची थी, जिसकी भनक अजीत सिंह को मिल गई थी। अजीत ने इसकी जानकारी पुलिस को दे दी थी। जिसके बाद आजमगढ़ के तत्कालीन एसपी नवीन अरोड़ा ने विधायक सीपू सिंह की सिक्योरिटी बढ़ा दी थी। हालांकि, बावजूद इसके विधायक की हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड में अजीत सिंह गवाह थे।

आजमगढ़ के जीयनपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सर्वेश सिंह की 19 जुलाई 2013 को बदमाशों ने घर में घुसकर दिनदहाड़े गोली हत्या की थी। वारदात में अजीत चश्मदीद गवाह था। इस मामले में कुंटू सिंह व अखंड सिंह सहित 13 लोगों पर मुकदमा दर्ज हुआ था। इस वारदात को पुलिस विधायक हत्याकांड से जोड़कर देख रही है। इसी बिंदु पर जांच भी शुरू कर दी गई है। कुंटू जीयनपुर के छपरा गांव का रहने वाला है। फिलहाल अखंड और कुंटू दोनों जेल में है।

मौका-ए-वारदात की सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही पुलिस
इस मामले में पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने बताया कि अजीत सिंह गोमतीनगर विस्तार स्थित राप्ती अपार्टमेंट रहता था। वह मूलरूप से मऊ के भदीड़ गांव का रहने वाला था। रात करीब आठ बजे वह मोहर सिंह के साथ किसी काम से कठौता चौराहे के पास स्थित उदय टावर आया था। दोनों के एसयूवी से उतरते ही पहले से घात लगाए तीन बदमाशों ने गोलियां बरसा दीं। फायरिंग से पूरे इलाके में भगदड़ मच गई।

उन्होंने बताया कि इस दौरान अजीत लहूलुहान होकर सड़क पर गिर पड़ा। मोहर सिंह शोर मचाते हुए बदमाशों के पीछे भागा, लेकिन तब तक वे बाइक से फरार हो गए। पुलिस आसपास के सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकलवा रही है। अजीत के साथी से पूछताछ के साथ मऊ व आजमगढ़ पुलिस से संपर्क किया गया है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company