देश

national

जय श्रीराम के नारों पर भाषण दिए बगैर लौटीं ममता ; बोलीं- कार्यक्रम में बुलाकर बेइज्जती करना आपको शोभा नहीं देता

Saturday, January 23, 2021

/ by Editor

कोलकाता

बंगाल में नेताजी की जयंती पर सियासी बवाल हो गया। यहां विक्टोरिया मेमोरियल में मोदी के मंच पर ममता बनर्जी नाराज हो गईं। दरअसल, जब ममता भाषण देने पहुंचीं, तो भीड़ में से जय श्री राम के नारे सुनाई देने लगे। इसके बाद ममता भड़क गईं और भाषण दिए बगैर ही लौट आईं।

ममता ने माइक पर कहा, 'यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है। सरकार के कार्यक्रम में गरिमा होनी चाहिए। यह पब्लिक का प्रोग्राम है। मैं कोलकाता में प्रोग्राम करने के लिए प्रधानमंत्री जी और संस्कृति मंत्रालय की आभारी हूं। लेकिन, किसी को बुलाकर इस तरह बेइज्जत करना शोभा नहीं देता। इसका विरोध करते हुए अब मैं कुछ नहीं बोलूंगी। जय हिंद, जय बांग्ला।'

मोदी-ममता रहे साथ, पर नहीं हुई बात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेताजी की 125वीं जयंती पर कोलकाता पहुंचे। यहां उन्होंने नेशनल लाइब्रेरी का दौरा किया। इसके बाद मोदी विक्टोरिया मेमोरियल हॉल पहुंचे, जहां उन्होंने नेताजी की स्मृति में सिक्का और डाक टिकट जारी किया। बंगाल की CM ममता बनर्जी भी प्रधानमंत्री के साथ यहां मौजूद रहीं। लेकिन, साथ बैठने के बावजूद दोनों के बीच बातचीत नहीं हुई।

मोदी के आने से पहले ममता ने शक्ति प्रदर्शन किया
मोदी के आने से पहले ही बंगाल की CM ममता बनर्जी ने कोलकाता के श्याम बाजार से रेड रोड तक करीब 8 किमी की पदयात्रा निकाली। इसे दोपहर 12.15 पर शुरू किया गया था, क्योंकि 23 जनवरी 1897 को इसी वक्त नेताजी का जन्म हुआ था।

कोलकाता को राजधानी का दर्जा देने की मांग
ममता ने कोलकाता को राजधानी बनाने की मांग की। उन्होंने कहा, 'अंग्रेज कोलकाता से ही पूरे देश पर राज करते थे। ऐसे में हमारे देश में एक शहर को ही राजधानी क्यों बनाए रखना चाहिए। देश में चार रोटेटिंग कैपिटल होनी चाहिए।'

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company