Responsive Ad Slot

देश

national

PM मोदी अहंकारी राजा की तरह, किसानों को देशद्रोही और आंदोलनजीवी बताते हैं- प्रियंका गांधी

Saturday, February 20, 2021

/ by Editor

मुजफ्फरनगर 

तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को मुजफ्फरनगर में किसान महापंचायत को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'अहंकारी राजा' बताया। कहा - सरकार कृषि कानून वापस न लेकर किसानों का अपमान कर रही है। इनसे MSP (न्यूनतम समर्थन मूल्य) और मंडियां खत्म हो जाएंगी।

प्रियंका ने कहा- किसान आंदोलन को देश ही नहीं, पूरी दुनिया देख रही है। कभी-कभी लगता है कि हमारे प्रधानमंत्री ऐसे हो गए हैं जैसे एक अहंकारी राजा थे। वे अपने महल से बाहर नहीं निकलते थे। लोग उनसे डरते थे, इसलिए उनके सामने बड़ी-बड़ी बातें कहने लगे। इससे राजा का अहंकार बढ़ता गया। उस अहंकारी राजा की तरह हमारे प्रधानमंत्री काम कर रहे हैं।

किसानों का अपमान कर रहे हैं मोदी

कांग्रेस नेता ने कहा- 90 दिन से लाखों किसान शांति से बैठकर संघर्ष कर रहे हैं, 215 किसान शहीद हुए। दिल्ली के बॉर्डर को ऐसा बना दिया गया है जैसे देश की सीमा हो। किसानों को देशद्रोही, आतंकवादी, परजीवी और आंदोलनजीवी कहा गया। मेरा मानना है कि किसान हमारे देश का हृदय हैं। हर नेता को इस बात का अहसास होना चाहिए कि जनता उस पर अहसान करती है। मुझे इसका पूरा अहसास है। दिल्ली बॉर्डर पर प्रदर्शन करने वाले किसानों का अपमान किया गया। जो किसान अपने बेटों को देश की सुरक्षा के लिए सीमा पर भेजता है उन्हें अपमानित किया गया।

टिकैत के आंसू पर हंस रहे थे मोदी
प्रियंका ने कहा- जब किसान नेता राकेश टिकैत की आंखों से आंसू निकले तो तब मोदी मुस्करा रहे थे। प्रधानमंत्री ने आपके सामने आकर हर चुनाव में ये वादा किया था कि गन्ने का भुगतान आपको दिया जाएगा। क्या ये आपको मिला? उन्होंने कहा था कि आपकी आमदनी दोगुनी होगी। क्या आपकी आमदनी दोगुनी हुई? मंडियों के खत्म होने से सिर्फ चंद खरबपतियों को फायदा होगा। सरकार को यह कानून वापस ले लेना चाहिए।

बॉक्सर बिजेंद्र सिंह बोले- लोगों को दुखी कर कानून वापस लेगी सरकार
मुजफ्फरनगर महापंचायत में बॉक्सर बिजेंद्र सिंह भी पहुंचे। उन्होंने कहा- हरियाणा में भाजपा की सरकार है। लेकिन, खिलाड़ियों को कोई सरकारी नौकरी नहीं दी गई। जब हरियाणा में कांग्रेस सरकार थी तो मुझे सीओ नियुक्त किया गया था। हरियाणा में एक कहावत है कि बकरी दूध देगी तो मिंगण भी देगी, मतलब ये सरकार कृषि कानून वापस तो लेगी, लेकिन दुखी कर के लेगी।

किसान पंचायत में आए कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णन ने कहा- मैं आपसे मन की बात नहीं करूंगा। क्योंकि इस पर तो प्रधानमंत्री ने कब्जा कर लिया है। जो महाभारत, रामायण और गीता में लिखा है वो आज हमारे देश की राजनीति में हो रहा है।

27 जिलों में महापंचायत अभियान का हिस्सा
यह महापंचायत 'जय जवान-जय किसान' अभियान के तहत हो रही है। कांग्रेस ने यूपी के 27 जिलों में कृषि कानूनों के विरोध में अभियान के तहत महापंचायत करने की रणनीति बनाई है। इसकी शुरुआत सहारनपुर से हुई थी।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company