देश

national

बजट से आम जन मानस को लगी निराशा

Tuesday, February 2, 2021

/ by इंडेविन टाइम्स

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

भारत सरकार का यह बजट निजीकरण को बढ़ावा देने वाला है। सार्वजनिक क्षेत्र को नजरंदाज किया जाना देशहित में नहीं है।आम जनता के लिए इस बजट कुछ खास नहीं है। रेल एवं हवाई अड्डे का निजीकरण करके आत्मनिर्भरता की कल्पना नहीं की जा सकती है।

डॉ पाण्डेय ने कहा कि डीजल पेट्रोल सहित जीवनोपयोगी चीज़ों को महंगा करके सोना ,चांदी को सस्ता करके गरीबों के साथ  मजाक किया गया है। आयकर के स्लैब में बदलाव न करके आयकरदाताओं को निराश करने वाला बजट है।दिव्यांगो को इस बजट में नहीं रखना अनुचित है। 

उन्होंने कहा कि श्रमिकों  किसानों, नौजवानों, नौकरीपेशा के साथ मध्यम वर्ग को राहत न देकर भारत सरकार ने छलने काम किया है।यह बजट पूंजीपतियों, उद्योगपतियों , एवं विदेशी कम्पनियों को ध्यान में रखकर बनाया गया है।यह बजट गांधी के गांव स्वराज्य को पीछे छोड़ने का काम करेगा।यह बजट मात्र छलावा है। इस बजट से आमजन निराश हैं।

कांग्रेसी नेता अशोक ने बताया कि भाजपा  द्वारा बनाई गई आम बजट सिर्फ पूंजीपतियों एवं उद्योगपतियों को फायदा पहुंचाने वाला बजट है। इस तरह का  बजट मध्यम वर्ग के लिए हमेशा रुलाने वाला बजट है  न तो युवाओं के लिए रोजगार का कोई मतलब और न ही किसानों के उत्थान के लिए कोई स्थान दिया गया है। ये सिर्फ चुनावी राज्यों को लुभाने वाली बजट है।  अमेठी के उत्थान के लिए कोई प्राविधान नहीं है।  विकसित भारत को शून्य बनाने वाला यह  बजट हमेशा लोगों को रुलाता रहेगा।

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group