देश

national

रिश्वत प्रकरण में प्रशासन की उदासीनता पर उठे सवाल

Saturday, February 6, 2021

/ by Editor

हरिकेश यादव-संवाददाता (इंडेविन टाइम्स)

अमेठी। 

केन्द्र - प्रदेश सरकार को हीला देने के लिए खबर अमेठी में चल रही हैं। प्रशासन के अधिकारी भ्रष्टाचार में डूबे हुए हैं। "काम के बदले, नजराना का खेल" जारी है। जिस पर अंकुश नहीं लग रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति  पर  अमेठी प्रशासन उदासीन बना हुआ है।

अमेठी के जिला प्रोबेशन अधिकारी अजय पाल ने भाजपा नेता रवि प्रताप सिंह से बिभाग में वाहन अनुबंधित करने के लिए दस हजार रुपये नजराना मांगा। जिसको पूरा करने के वक्त भाजपा श्री सिंह ने किल्प बीडियो की तैयार करवायी। और वायरल भी कर दिया। 

चौरी - चौरा शताब्दी समारोह में जिले के प्रभारी मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार मोहसिन रजा से भाजपा नेता रवि प्रताप सिंह ने अधिकारी के कारनामों की शिकायत किया। वाहन के अनुबंधित करने पर नजराना की शिकायत पर आगबबूला हो गए। 

प्रभारी मंत्री मोहसिन रजा ने जिलाधिकारी अरूण कुमार को मामले की निष्पक्ष जांच कर कार्यवाही की बात कही है। गौरतलब है कि अमेठी जिले में सांसद एवं केंद्रीय मंत्री भारत सरकार स्मृति जुबिन ईरानी ईरानी प्रशासन पर नियंत्रण नहीं रख पा रहीं। और भाजपा नेता को भी भ्रष्टाचार से जूझना पड़ रहा हैं। ऐसी जनसेवा से जनता को कैसी राहत मिलेगी। जनता में इस घटना को लेकर काफी अक्रोश ब्याप्त है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company