देश

national

उत्तराखंड में ग्लेशियर टूटने से भारी तबाही, सीएम योगी ने यूपी में जारी किया अलर्ट

Sunday, February 7, 2021

/ by इंडेविन टाइम्स

  लखनऊ

उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से भारी तबाही का मंजर दिख रहा है। इसके चलते अलकनंदा और धौली गंगा उफान पर है। वहीं उत्तराखंड में हुई इस तबाही को देखते हुए यूपी में अलर्ट जारी कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तराखंड में बांध टूटने से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के मद्देनजर यूपी के संबंधित विभागों और अफसरों को हाई अलर्ट पर डाल दिया है। वहीं उन्होंने पूरी नजर रखने के अलावा SDRF को भी अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं।
जल स्तर की निगरानी के सख्त निर्देश
रिलीफ कमिश्नर ने आदेश जारी कर कहा है कि गंगा नदी पर बसे जिलों को हाई अलर्ट पर रहने की आवश्यकता है और जल स्तर की निगरानी 24 × 7 करने की आवश्यकता है। यदि आवश्यक हो तो लोगों को बाहर निकालने और सुरक्षित स्थान पर ले जाने की आवश्यकता है। वहीं एनडीआरएफ, एसडीआरएफ और पीएसी फ्लड कंपनी को हाई अलर्ट पर रहने के निर्देश दिए गए हैं।
अधिकारियों को सतर्क रहने के निर्देश
सरकारी प्रवक्ता के अनुसार योगी ने कहा कि हर पहलू पर पूरी मुस्तैदी और नज़र रखी जाए। उन्होंने राज्य आपदा मोचन बल को भी मुस्तैद किए जाने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने गंगा नदी के किनारे पड़ने वाले सभी जिलों के जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को भी पूरी तरह सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं।


बांध टूटने की खबर, SDRF अलर्ट पर
बता दें कि उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से भारी तबाही की सूचना है, पानी के बहाव में कई घरों के बहने की आशंका है। आस-पास के इलाके खाली कराए जा रहे हैं। लोगों से सुरक्षित इलाकों में पहुंचने की अपील की जा रही है। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत घटनास्थल पर रवाना हो गए हैं।
सीएम ने दिए आपदा से निपटने के आदेश
मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा, 'चमोली जिले से एक आपदा का समाचार मिला है। जिला प्रशासन, पुलिस विभाग और आपदा प्रबंधन को इस आपदा से निपटने की आदेश दे दिए हैं। किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान ना दें। सरकार सभी जरूरी कदम उठा रही है।'
सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील
चमोली पुलिस ने लोगों से सुरक्षित इलाकों में जाने की अपील की है। पुलिस की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'आम जनमानस को सूचित किया जाता है कि तपोवन रैणी क्षेत्र में ग्लेशियर आने के कारण ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट को काफी क्षति पहुंची है, जिससे नदी का जल स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है, जिस कारण अलकनंदा नदी किनारे रह रहे लोगों से अपील है जल्दी से जल्दी सुरक्षा की दृष्टि से सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं।'
Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Group