Responsive Ad Slot

देश

national

परमाणु हमला करने वाले अमेरिकी F-15EX ने भरी पहली उड़ान

Wednesday, February 3, 2021

/ by Editor

अमेरिकी वायुसेना के लिए बनाए जा रहे एफ-15ईएक्स लड़ाकू विमान ने आज पहली उड़ान भरी है। यह विमान इतना खतरनाक है कि हवा में दुश्मनों के कई फाइटर जेट्स को अकेले ही हरा सकता है। इतना ही नहीं, यह लड़ाकू विमान परमाणु हथियारों से लैस मिसाइलों को दागने में भी सक्षम है। अभी कुछ दिन पहले ही इस एफ-15ईएक्स को बनाने वाली कंपनी बोइंग ने भारत को भी ऑफर किया है। यह लड़ाकू विमान अगर भारतीय वायुसेना में शामिल होता है तो चीन और पाकिस्तान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। बोइंग ने इस विमान के पहली उड़ान का वीडियो ट्वीट कर कहा है कि हम अमेरिकी वायुसेना को जल्द ही इसके दो बैच को सौंप देंगे।

90 मिनट तक हवा में रहा F-15EX लड़ाकू विमान

रिपोर्ट के अनुसार, एफ-15ईएक्स विमान ने 2 फरवरी को मिसौरी के सेंट लुइस में लैंबर्ट इंटरनेशनल एयरपोर्ट को उड़ान भरी थी। पहले इस विमान को 1 फरवरी को उड़ान भरने के लिए तैयार किया गया था, लेकिन खराब मौसम के कारण पूरी योजना को एक दिन के लिए टाल दिया गया। बोइंग ने बताया कि अपनी पहली उड़ान के दौरान एफ-15ईएक्स लगभग 90 मिनट हवा में रहा। इतना ही नहीं, इस विमान ने उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन भी किया। इस विमान का सीरियल नंबर 20-0001 है।

76 एफ-15ईएक्स को खरीदेगा अमेरिका

अमेरिकी वायुसेना के 13 जुलाई, 2020 को को घोषित किए गए 23 बिलियन डॉलर के इस डील के पहले चरण में बोइंग 8 विमानों को बनाकर सौंपेगा। इन 8 विमानों की कीमत 1.2 बिलियन डॉलर के आसपास आंकी गई है। अमेरिकी वायुसेना ने बाकी के बचे अतिरिक्त 12 एफ15ईएक्स विमानों को खरीदने के लिए पैसे की मांग की है। अमेरिकी वायुसेना अगले पांच साल में कुल 76 एफ-15ईएक्स विमान को खरीदने की योजना पर काम कर रही है।

एफ-15ईएक्स विमान की पहली उड़ान का वीडियो

किसी भी लड़ाकू विमान को मात दे सकता है एफ-15ईएक्स

एफ-15ईएक्स लड़ाकू विमान अमेरिका के एफ-15ई स्ट्राइक ईगल (F-15E Strike Eagle) का अपडेटेड वर्जन है। जिसे बोइंग डिफेंस स्पेस एंड सिक्योरिटी ने एयरोस्पेस कंपनी मैक्डॉनल डगलस के साथ मिलकर आज से 34 साल पहले 11 दिसंबर 1986 को तैयार किया था। लगभग दो साल बाद एफ-15ई का पहला विमान 30 सितंबर 1989 को अमेरिकी वायुसेना में कमीशन किया गया था। हवा से हवा में मार करने के मामले में इस फाइटर एयरक्राफ्ट का कोई तोड़ नहीं है। इसकी एयरोडायनेमिक बनावट के कारण इसे मल्टीरोल एयरक्राफ्ट की श्रेणी में बेहतरीन माना जाता है।

एफ-15 के अलग-अलग वैरियंट इन देशों की वायुसेना में हैं शामिल

एफ-15 के अलग-अलग वैरियंट कई देशों की वायुसेना में शामिल हैं। अमेरिकी वायुसेना में तो 210 की संख्या में एफ-15ईएस लड़ाकू विमान तैनात हैं। जनवरी 2014 से इजरायली वायुसेना में 25 एफ-15आई लड़ाकू विमान शामिल हैं। इसके अलावा दक्षिण कोरिया की वायुसेना में 2019 से एफ-15के के 59 एयरक्राफ्ट भी तैनात हैं। कतर की वायुसेना ने भी 36 एफ-16क्यू का ऑर्डर दिया हुआ है। सऊदी अरब की वायुसेना में भी 2014 से 70 की संख्या में एफ-15एस ईगल एयरक्राफ्ट तैनात हैं, जबकि 84 एफ-15एसए का ऑर्डर पेंडिंग है। सिंगापुर की वायुसेना में भी 70 एफ-15एसजी लड़ाकू विमान शामिल हैं।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company