देश

national

जनता पर बिना बोझ डाले महापौर ने खोला शहर के विकास के लिए पिटारा

Wednesday, March 24, 2021

/ by Dr Pradeep Dwivedi

गीतांजलि सिंह

इंडेविन न्यूज नेटवर्क

लखनऊ।

महापौर संयुक्ता भाटिया की अध्यक्षता में नगर निगम लखनऊ का मूल बजट 2021-22, 19 अरब 46 करोड़ 82 लाख का शहर के विकास का बजट सर्वसम्मति से पारित किया गया।

 बजट की प्रमुख झलकियां

महापौर संयुक्ता भाटिया द्वारा जनता पर कोई नया कर का भार नही डाला गया। 

लक्ष्मण द्वारा बसाई गयी नगरी लखनऊ में लक्ष्मण प्रेरणा स्थल बनाते हुए लक्ष्मण जी की सबसे बड़ी प्रतिमा 151 फ़ीट की महापौर द्वारा लगाई जाएगी, इसके लिए 1 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया। 

कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए महापौर ने चिंता जताई, और कोरोना सुरक्षा हेतु 5 करोड़ रुपये का फण्ड निर्धारित किया। 

आज स्वतंत्रता वीर सेनानी भगत सिंह की शहीद दिवस पर होने पर महापौर ने कार्यकारिणी समिति की बैठक में उनको श्रधांजलि अर्पित की। महापौर ने बताया कि उनके कार्यकाल में भगत सिंह की मूर्ति लगा दी गयी है, अब शहीद दिवस को नमन करते हुए भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव की मूर्ति एकसाथ  लखनऊ के  किसी एक पार्क में लगाई जाएगी। 

महिला सदन में तय किये गए महिला बाजार पर बजट की मोहर लगा दी गयी, महापौर द्वारा स्थान चिन्हित करने के उपरांत महिला बाजार बनाया जाएगा, जिसमें विक्रेता सिर्फ महिलाये ही रहेंगी, और महिला सम्बंधित सम्मान ही विक्रय कर सकेंगी। 

प्रमुख बड़े पार्को में महिलाओ के लिए यूरिनल और बेबी फीडिंग सेंटर के लिए बजट की व्यवस्था की गई। 

महापौर ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कैच द वाटर अभियान से प्रेरणा प्राप्त करते हुए शहरवासियों से बर्षा जल संचयन की अपील को, वर्षा जल संचयन वाले घरो में गृहकर में 5% की छूट प्रदान की जाएगी। 

महापौर द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी नगर निगम डिग्री कॉलेज के शिक्षकों को 7वां वेतनमान हेतु बजट की व्यवस्था की गई, साथ ही नगर निगम में कार्यरत कार्यदायी कंप्यूटर ऑपरेटर, अमीनाबाद इंटर कॉलेज में कार्यदायी संस्था के शिक्षको एवं अन्य कार्यदायी कर्मचारियों की तनख्वाह में योथिचित वृध्दि के लिए आख्या हेतु निर्देशित किया गया।  

वाल्मीकि समाज के लिए स्थान चिन्हित कर सामुदायिक केंद्र का निर्माण कराया जाएगा, जिसके लिए 50 लाख रुपये की बजट की व्यवस्था की गई। 

अटल बिहारी वाजपेयी नगर निगम डिग्री कॉलेज में 8 कमरे और हॉल बनाने के लिए बजट की व्यवस्था की गई।

भारी बारिश में जलनिकासी सुचारू रूप से हो सके इसके लिए बड़े नालो की सफाई हेतु 5 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया, वही सुचिता बनाये रखने हेतु छोटे और स्वास्थ्य विभाग द्वारा साफ किये जाने वाले नालो की सफाई सम्बंधित जोनों के सफाई कर्मचारियों द्वारा मैनुअली कराई जाएगी। 

शहर में स्थित बाढ़ पम्पिंग स्टेशनों के संचालन एवं अनुरक्षण हेतु 4 करोड़ रुपये की व्यवस्था की गई है। 

शहर में नाली, सड़क और नाला बनाने पर विकास कार्यों हेतु 176 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे। 

2 करोड़ रुपये से नए कूड़ाघरों का निर्माण कराया जाएगा। 

1 करोड़ रुपये के शौचालय और मूत्राशय शहर में बनाये जाएंगे।

स्वच्छता में रैंकिंग बढ़ाने के लिए महापौर ने खोला खजाना

कूड़े के ढेर को समाप्त करने के लिए सॉलिड वेस्ट पर 36 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे।

- 140 करोड़ रुपये से शहर की सफाई व्यवस्था पर खर्च किये जाएंगे। 

- शहर में निराश्रित पशुओं, गायो और कुत्तों के चिकित्सा और रखरखाव पर 11 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- शहर में जल रही लाईट के  पर 21 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- शहर के पार्को के विकास और रखराखव के लिए 30 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- पार्को में कम्पोस्ट पिट बनाने पर 2 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- 150 करोड़ रुपये से कल्याण मंडप बनाये जाएंगे। 

- 10 लाख रुपये से लावारिश लाशो के निस्तारण पर खर्च किये जायेंगे। 

- नए शमशान घाटो को बनाने और उनके मरम्मत पर 30 लाख रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- नगर निगम के जोनल कार्यालयों के मरम्मत और सदन के हॉल को विधानसभा जैसे बनाने पर 3 करोड़ रुपये खर्च किया जाएगा।

- नगर निगम की खाली पड़ी जमीनों को कब्जे से बचाने के लिए उनकी फेंसिंग कराई जायेगी, इसके लिए 2 करोड़ रुपये खर्च किये जायेंगे। 

- शहर के गरीब वेंडर्स को बसाने के लिए 2 करोड़ रुपये से वेंडिंग जोन बनाया जाएगा। 

- 8 करोड़ रुपये से नई पार्किंग बनाई जाएगी। 

- न्यायालय और विधानसभा समिति द्वारा दिये गए निर्देशों पर कार्य कराने हेतु 5 करोड़ रुपये व्यय किये जायेंगे।

- नगर निगम कर्मचारियों की पेंशन पर 80 करोड़ तो नगर निगम के कंप्यूटरीजेशन कार्य पर 1 करोड़ खर्च करेंगी।

महापौर शिक्षा पर खर्च करेंगी 16 करोड़ 35 लाख रुपये

महापौर संयुक्ता भाटिय द्वारा जरूरतमंद विद्यार्थियों की शिक्षा पर 16 करोड़ 35 लाख रुपए व्यय किये जायेंगे। इसके साथ ही 4 करोड़ रुपये से स्कूलों में निर्माण कार्य भी कराया जाएगा। 5 लाख रुपये से पुस्तकालय और संग्रहालय भी बनाया जाएगा।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company