Responsive Ad Slot

देश

national

जानिए पपीता खाने के क्या है नुकसान ?

Thursday, March 18, 2021

/ by Editor

रसदार और सुनहरा सा दिखने वाला फल पपीता पोष्क तत्वों से भरपूर है। फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत होने के लिहाज से यह कई बीमारियों में बहुत फायदेमंद है। लेकिन पपीते का अधिक मात्रा में सेवन आपको नुकसान पहुंचा सकता है। वैसे देखा जाए, तो पपीता हर किसी को पसंद नहीं होता। कुछ को इसका स्वाद रास नहीं आता, तो कुछ को इसे काटने और फिर खाने में आलस आता है। आपको बता दें कि, पपीते की लेटेक्स और हाई फाइबर सामग्री को देखते हुए , इसका ज्यादा सेवन आपके लिए रिस्क पैदा कर सकता है।

हालांकि फल के साइड इफेक्ट पूरी तरह से सिद्ध नहीं हुए हैं, लेकिन ये जरूरी है कि आप उनके बारे में जागरूक हों। ऐसे में आप पपीते से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं। तो चलिए इस आर्टिकल में हम पपीता खाने से होने वाले 6 नुकसानों के बारे में बताएंगे।

​बच्चों के लिए असुरक्षित

डॉक्टर अक्सर कहते हैं कि एक साल से कम की आयु वाले बच्चे को पपीता नहीं खिलाना चाहिए। दरअसल, छोटे बच्चे पानी बहुत कम पीते हैं। ऐसे में पर्याप्त पानी के सेवन के बिना उच्च फाइबर वाला ये फल मल को कठोर बना देता है, जिससे बच्चों को कब्ज की शिकायत हो सकती है। इसलिए कच्चा या पका किसी भी रूप में बच्चों को यह फल न दें।

​पपीते से होने वाले नुकसान

1- गर्भवती महिला के लिए हानिकारक- 


पपीता बहुत पौष्टिक फल है, लेकिन गर्भवती महिलाओं के लिए ये बेहद नुकसानदायक है। डॉक्टर्स प्रेग्नेंसी में महिलाओं को पपीता खाने से बचने की सलाह देते हैं। दरअसल, पपीते के बीज, जड़ और पत्तियां भ्रूण को नुकसान पहुंचाती हैं। एक कच्चे पपीते में लेटेक्स की भारी मौजूदगी गर्भाशय के संकुचन का अहम कारण बन सकती है। इसके अलावा पपीते में मौजूद पपैन शरीर में झिल्ली को डैमेज कर देते हैं, जो भ्रूण के विकास के लिए बहुत जरूरी है।

​2- श्वसन संबंधी विकार पैदा करे

पपीते में मौजूद एंजाइम पैपैन को एलर्जेन कहते हैं। इसके ज्यादा सेवन से अस्थमा और घरघराहट जैसी श्वसन संबंधी बीमारियां हो सकती हैं। इन स्वास्थ्य स्थिति को रोकने के लिए अधिक मात्रा में पपीते के सेवन से बचना चाहिए। यदि आपको कोई बीमारी है, तो डॉक्टर से परामर्श के बाद ही यह फल खाएं। वही आपको बताएंगे कि फल की कितनी मात्रा आपके लिए अच्छी है।

3- ब्लड शुगर कम करे

ज्‍यादा पपीता खाने से खून में ब्लड शुगर लेवल कम भी हो सकता है, जो कि डायबिटीज से पीड़ित मरीजों के लिए खतरनाक है। इसलिए डायबिटीज रोगियों को पपीता खाने से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लेनी चाहिए।

4- पाचन समस्या बढ़ाए

कब्ज से ग्रसित लोगों को आमतौर पर पपीता खाने के लिए कहा जाता है। लेकिन इसमें मौजूद अतिरिक्त फाइबर का सेवन कब्ज को जन्म दे सकता है। दरअसल, फल में लेटेक्स की उपस्थिति पेट में जलन और दर्द की वजह बन सकता है। इसमें उच्च मात्रा में मौजूद फाइबर पाचन तंत्र में अशांति पैदा कर सकता है। शोध बताते हैं कि पपीते के अधिक सेवन से पेट में ऐंठन, सूजन, पेट फूलना और मतली भी हो सकती है।

No comments

Post a Comment

Don't Miss
© all rights reserved
Managed By-Indevin Infotech-Leading IT Company